scorecardresearch
 

लॉक डाउन में बेरोजगार हुए जिम ट्रेनर ने डॉक्टर से मांगी 5 लाख रंगदारी, क्राइम ब्रांच ने दबोचा

बेरोजगार होने के बाद जिम ट्रेनर ने आसानी से रुपये कमाने के लिए एमबीबीएस डॉक्टर को फोन कर डरा-धमका कर पांच लाख रुपये की डिमांड कर दी. लेकिन वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाया और क्राइम ब्रांच ने धर दबोचा.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हरियाणा के फरीदाबाद का है मामला
  • आरोपी पलवल के बस स्टैंड से गिरफ्तार
  • एनआईटी के जिम में ट्रेनर था आरोपी

कोरोना वायरस की महामारी के कारण लॉकडाउन लागू हुआ था. इस दौरान बड़ी तादाद में लोग बेरोजगार हुए हैं. लॉकडाउन के दौरान बेरोजगार हुए एक जिम ट्रेनर ने फरीदाबाद के फरीदाबाद के एनआईटी इलाके में एक एमबीबीएस डॉक्टर से फोन पर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांग ली. इसकी शिकायत मिलने के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले की तहकीकात शुरू की और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

पुलिस के मुताबिक आरोपी फरीदाबाद के एनआईटी इलाके में पहले जिम ट्रेनर था. लॉक डाउन के चलते उसकी नौकरी चली गई थी और वह बेरोजगार हो गया था. बेरोजगार होने के बाद जिम ट्रेनर ने आसानी से रुपये कमाने के लिए एमबीबीएस डॉक्टर को फोन कर डरा-धमका कर पांच लाख रुपये की डिमांड कर दी. लेकिन वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाया और क्राइम ब्रांच ने धर दबोचा.

देखें: आजतक LIVE TV

इस मामले में फरीदाबाद पुलिस के असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर (एसीपी) आदर्शदीप ने बताया कि फरीदाबाद के एनआईटी इलाके में 28 अक्टूबर की रात को डॉक्टर सुदेश को एक फोन कॉल आई. डॉक्टर से फोन पर बात कर रहे आरोपी ने डराया-धमकाया और पांच लाख रुपये की मांग की. डॉक्टर की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने इसे तुरंत ही सीआईए को सौंप दिया.

एसीपी के मुताबिक सीआईए ने कुछ घंटों के अंदर ही आरोपी पुलकित को पलवल के बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया. फरीदाबाद पुलिस के पीआरओ एसीपी आदर्श दीप नेा बताया कि जिम ट्रेनर पुलकित की नौकरी लॉकडाउन के कारण चली गई थी. वह डॉक्टर को डरा-धमका कर पांच लाख रुपये की रंगदारी वसूलना चाहता था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें