scorecardresearch
 

Double murder: बॉयफ्रेंड के भाई से 20 दिन की मोहब्बत.. और बेटी ने उसी से कराया था मां-बाप का मर्डर

उस दिन सुबह का वक्त था, जब कानपुर के बर्रा इलाके से निकली डबल मर्डर की वारदात ने हर किसी को सकते में डाल दिया था. सुबह-सुबह एक घर में रहनेवाली बुजुर्ग दंपति की कातिलों ने गला काट कर जान ले ली थी. लेकिन ये वारदात जितनी भयानक थी, तो इसके पीछे छुपी साजिश की कहानी भी उतनी ही खौफनाक थी.

X
कातिल बेटी कोमल ने पुलिस को चकमा देने की नाकाम कोशिश की थी कातिल बेटी कोमल ने पुलिस को चकमा देने की नाकाम कोशिश की थी

कहते हैं इश्क का जुनून अगर किसी इंसान पर सवार हो जाए तो वो कुछ भी करने से गुरेज नहीं करता. लेकिन अगर वो इश्क महज 20 दिन पुराना हो तो आप क्या कहेंगे. जी हां, कुछ दिनों पहले कत्ल की एक ऐसी सनसनीखेज वारदात सामने आई. जिसने पुलिस को भी हैरान कर दिया. दरअसल, एक लड़की ने दो लोगों का कत्ल कराया था और मरने वाले वो दो लोग कोई और नहीं बल्कि उस लड़की के मां-बाप थे. जबकि डबल मर्डर की इस वारदात को अंजाम दिया था उस लड़की के आशिक ने, जिसके साथ उसकी आशिकी महज 20 दिन पुरानी थी. 

5 जुलाई 2022 गुरुवार, कानपुर
उस दिन सुबह का वक्त था, जब कानपुर के बर्रा इलाके से निकली डबल मर्डर की वारदात ने हर किसी को सकते में डाल दिया था. सुबह-सुबह एक घर में रहनेवाली बुजुर्ग दंपति की कातिलों ने गला काट कर जान ले ली थी. लेकिन ये वारदात जितनी भयानक थी, तो इसके पीछे छुपी साजिश की कहानी भी उतनी ही खौफनाक. जिसने लोगों को हैरान कर दिया था. 

तेजधार हथियार से काटा गया था गला
इससे पहले कि कत्ल की ये पूरी कहानी हम आपको सिलसिलेवार तरीके से बताएं, आइए पहले इस वारदात के पीछे की साजिश को समझने की कोशिश करते हैं. रिटायर्ड ऑर्डिनेंस कर्मी मुन्नालाल (61) और उनकी बीवी राजदेवी (55) अपनी बेटी कोमल और बेटे अनूप के साथ बर्रा की ईडब्ल्यूएस कॉलोनी में रहते थे. बेटी की शादी की तैयारी चल रही थी, जबकि बेटे का अपनी पत्नी से विवाद था और बहू शादी के फौरन बाद ही घर छोड़ कर जा चुकी थी. इसी बीच 5 जुलाई की सुबह बुजुर्ग दंपति अपने-अपने बिस्तर पर मरे हुए पाए गए थे. किसी ने तेजधार हथियार से दोनों का गला काट दिया था.

रोहित ने कबूला अपना गुनाह
पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात की छानबीन के दौरान मौका-ए-वारदात के आस-पास लगे तमाम सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला. जिसमें मोहल्ले के ही रहनेवाले रोहित नाम के एक लड़के की तस्वीरें नज़र आई, जो देर रात संदिग्ध तरीके से मौका-ए-वारदात की तरफ जाता हुआ दिखाई दे रहा था. इसी बिनाह पर पुलिस ने रोहित को गिरफ्तार कर लिया. जब पुलिस ने रोहित से सख्ती के साथ पूछताछ की तो आरोपी टूट गया और उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया. लेकिन इसके आगे की कहानी इससे भी ज़्यादा हैरान करनेवाली थी. असल में रोहित मरने वाली दंपति की बेटी कोमल का दूसरा ब्वॉयफेंड था, कोमल का पहला ब्वॉयफेंड तो रोहित का सगा भाई राहुल था, जो एक फ़ौजी है, उसकी तैनाती मुंबई में थी.

कहानी में ट्विस्ट
फौजी राहुल ने ही वारदात से 20 दिन पहले अपने भाई रोहित की कोमल से फोन पर कॉन्फेंस कॉल के लिए जरिए बात करवाई थी. लेकिन ये एक कॉन्फेंस कॉल एक भाई के लिए जिंदगी का सबसे बड़ा धोखा साबित हुई. रोहित अब अपने भाई राहुल की गर्लफेंड से ही चुपचाप बात करने लगा और दोनों एक दूसरे करीब आने लगे, जबकि मुंबई में बैठे पहले ब्वॉयफेंड राहुल को इस बात की भनक तक नहीं थी. 

प्रॉपर्टी के लिए रची खौफनाक साजिश
दोनों भाईयों से संबंध रखने वाली कोमल अपने मां-बाप से नाराज़ रहती थी. असल में वो रोहित या राहुल में से किसी एक से शादी करना चाहती थी और घरवाले इस रिश्ते के लिए तैयार नहीं थे. ऊपर से कोमल के भाई का तलाक का केस चल रहा था और कोमल को डर था कि कहीं भाई के तलाक के केस में मां-बाप की प्रॉपर्टी हाथ से ना निकल जाए. इसलिए उसने एक तीर से दो शिकार करने का फैसला किया. उसने अपने मां-बाप के साथ-साथ अपने भाई की भी क़त्ल की साज़िश रची और इस साज़िश में उसके पहले ब्वॉयफेंड राहुल के साथ-साथ ब्वॉयफेंड का भाई और कोमल का दूसरा ब्वॉयफेंड रोहित भी शामिल हो गया. 

रोहित ने किया दंपति का मर्डर
5 जुलाई की रात को दूसरे ब्वॉयफेंड रोहित ने कोमल के साथ मिलकर बुजुर्ग दंपत्ति का कत्ल तो कर दिया, लेकिन खुशकिस्मती से कोमल के भाई की जिंदगी बच गई. दोहरे कत्ल के बाद से ही कानपुर पुलिस हरकत में आ चुकी थी. पुलिस इस मामले की साज़िश का पता लगाने में जुट गई थी. इस परिवार के चार में से दो लोगों का तो कत्ल हो चुका था, बाकी बचे थे दो लोग. यानी बुजुर्ग दंपति की बेटी कोमल और बेटा अनूप. 

अनूप और उसकी बहन कत्ल से अंजान!
बहरहाल, वक्त गुजरा और बुजुर्ग दंपत्ति के बच्चों से पुलिस ने पूछताछ शुरू की. वारदात को लेकर घर के बेटे अनूप ने बताया कि आधी रात को उसके मां-बाप की हत्या कातिलों ने चापड़ से गला काट कर की और उसे कुछ पता ही नहीं चला, क्योंकि वो फर्स्ट फ्लोर पर बने कमरे में सो रहा था, जबकि नीचे उसके मम्मी-पापा और उसकी बहन सो रही थी. पापा बाहरवाले कमरे में थे, जबकि मम्मी और बहन अंदर वाले कमरे में साथ सोई थी. सुबह-सुबह उसकी बहन ने ही उसे ऊपर जाकर नींद से जगाया और बताया कि किसी ने उनके मम्मी-पापा का कत्ल कर दिया है. 

जांच के दौरान सामने आए अहम सवाल 
हालांकि इस बयान के साथ-साथ बेटे ने एक और गौर करनेवाली बात कही, वो ये कि बीती रात को उसे चक्कर सा आ रहा था और उसे शक है कि किसी ने उनके खाने में कुछ मिला दिया था. मगर, हैरानी की बात ये थी कि तब तक उनके घर में बाहर से कोई आया भी नहीं था. बेटे के इस बयान से दो सवाल खड़े हो रहे थे. पहला तो ये कि जब क़त्ल से पहले घर में बाहर से कोई आया नहीं था, तो फिर उनके खाने में कोई नशीली चीज़ किसने मिलाई? और दूसरा ये कि जब बहन मां के साथ ही सो रही थी, तो फिर उसे अपनी मां पर हुए हमले का पता क्यों नहीं चला? 

कोमल ने लिया था भाई के साले का नाम
वाकई, ये मामला बड़ा ही अजीब था. अब पुलिस ने इस घर की बेटी से पूछताछ शुरू की. कोमल ने भी तकरीबन वही कहानी सुनाई, जो उसका भाई सुना रहा था. यानी कातिल आधी रात घर में घुस कर मम्मी पापा की जान लेकर चले गए और जब तक उसकी नींद खुली कातिल घर से निकल चुके थे. हालांकि उसने एक नई बात ज़रूर कही थी कि उसने तीन नकाबपोश कातिलों को घर से भागते हुए देखा था और इनमें उसके भाई अनूप का छोटा वाला साला मयंक गुप्ता भी शामिल था. अब पुलिस ने एक बार फिर घर के बेटे अनूप से बात करने का फैसला किया. 

अनूप के ससुरालवालों पर शक
असल में अनूप का अपनी पत्नी के साथ तलाक का केस चल रहा था और उसकी पत्नी इन दिनों अलग रहती थी. मुआवजे के तौर पर पत्नी और उसके घरवालों ने अनूप और उसके घरवालों से 50 लाख रुपये की मांग भी रखी थी. ऐसे में अनूप जो कहानी सुना रहा था, उसके मुताबिक उसके मां-बाप का कत्ल उसके सालों ने ही किया था. यानी इस डबल मर्डर का पहला शक अनूप के सालों और ससुरालवालों पर भी था. साथ में अनूप पड़ोस के ही एक दुकानदार पर भी शक जता रहा था. और पुलिस ने इन्हीं इल्ज़ामों के मुताबिक अनूप के ससुरालवालों से पूछताछ भी शुरू कर दी थी.

तीन नहीं, एक था नकाबपोश कातिल
ज़ाहिर है शक अनूप के एक साले समेत तीन नकाबपोश कातिलों पर था, जो आधी रात चुपके से घर में घुस आए थे, ऐसे में पुलिस ने गली में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखने का फैसला किया. लेकिन फुटेज में कुछ अलग ही कहानी नजर आ रही थी. फुटेज में तीन नकाबपोश कातिलों की जगह सिर्फ एक ही नकाबपोश शख्स खाली हाथ पैदल ही उनके घर की तरफ आता दिख रहा था और करीब 1 घंटे के बाद वो पैदल ही वापस जाता भी दिखाई दिया. लेकिन वापसी में उसके साथ में एक बैग ज़रूर मौजूद था. ज़ाहिर है जब तीन नकाबपोश कातिल की जगह यही इकलौता शख्स कैमरे में कैद हुआ था, तो शक इसी शख्स पर होना लाज़िमी था.

इसी के साथ तीन ऐसी बातें थीं, जो शक पैदा कर रही थीं-

सुराग नंबर-1
कातिलों ने घर में घुस कर हत्या की, लेकिन घर में किसी को इस बात का पता नहीं चला. ख़ास कर बेटी को जो खुद मां के साथ एक ही बिस्तर पर सो रही थी.

सुराग नंबर-2
बेटी ने बताया कि उसने तीन नकाबपोश कातिलों को भागते हुए देखा था, तो फिर सवाल ये था कि उसने शोर क्यों नहीं मचाया?

सुराग नंबर-3
क़ातिल घर में इतने आराम से कैसे दाखिल हो गए? जबकि आम तौर पर रात को लोग दरवाज़ा बंद करके सोते हैं.

सख्ती करने पर टूट गई कोमल
ये तीन अहम बातें घर की बेटी कोमल को शक के दायरे में ला रही थी. अब जब पुलिस ने उससे गहन पूछताछ की, तो वो सवालों का जवाब देने में लड़खड़ाने लगी. खास कर घर का दरवाज़ा खुला होने, कातिलों को देखने के बावजूद उसके चुप रह जाने, दो-दो क़त्ल के बावजूद खुद के बेख़बर होने का उसके पास कोई जवाब नहीं था. उसके दोनों हाथों पर चोट के निशान भी थे. ऐसे में जब पुलिस ने उससे सख्ती की तो आख़िरकार उसने मान लिया कि उसी ने अपने आशिक रोहित के साथ मिलकर अपने मां-बाप की आधी रात घर में हत्या की है. 

जूस में मिलाकर घरवालों को दिया था जहर
पूछताछ में कोमल ने बताया कि उसने रोहित के साथ मिलकर इस कत्ल की प्लानिंग की थी. यहां तक कि वो मां-बाप के अलावा अपने भाई अनूप को भी मारना चाहती थी. कुछ इसी इरादे ने उसने बीती रात मां-बाप के साथ-साथ भाई को भी जूस में जहर मिलाकर दिया था, लेकिन भाई ने जूस पूरा नहीं पीया. जबकि उसके मां-बाप जूस पीकर सो गए थे. कत्ल के दौरान भी आधी रात उसने ऊपर जाकर अपने भाई अनूप को जगाने की कोशिश की थी, ताकि प्रेमी के हाथों उसका भी गला कटवा दिया जाए, लेकिन गहरी नींद में सो रहे अनूप ने पहली बार में दरवाज़ा नहीं खोला और तब मां-बाप की जान लेकर ही आशिक रोहित फरार हो गया और प्लान बी के मुताबिक कोमल ने अपने भाई को जगा कर मां-बाप के क़त्ल का ड्रामा शुरू कर दिया.

गोद ली गई बेटी थी कोमल
अब पुलिस का शिकंजा घर की बेटी कोमल पर पूरी तरह से कस चुका था. उससे गहराई से पूछताछ की जा रही थी. छानबीन में पुलिस को पता चला कि कोमल को अब से कोई 24 साल पहले मुन्नालाल और राजदेवी ने अपने एक रिश्तेदार से गोद लिया था. यानी उन्हें कोई बेटी नहीं थी. यही वजह है कि उन्होंने कोमल को गोद लेकर बडे नाजों से पाला था. लेकिन उन्हें क्या पता था कि एक दिन उनकी यही गोद ली हुई बेटी उनके कत्ल की वजह बन जाएगी. 

कोमल को सता रहा था प्रॉपर्टी जाने का डर
कोमल उसी मोहल्ले में रहनेवाले एक लड़के रोहित से प्यार करती थी और उससे शादी करना चाहती थी. कोमल के रोहित के भाई राहुल से भी अच्छे संबंध थे. लेकिन कोमल के मां-बाप इस रिश्ते पर राज़ी नहीं थे. उधर, भाई अनूप का अपनी ही बीवी और ससुरालवालों से विवाद चल रहा था. ससुरालवाले 50 लाख रुपये मांग रहे थे और ऐसे मुन्नालाल अपना मकान बेचने के बारे में भी सोच-विचार कर रहे थे. जिससे कोमल घबराने लगी थी. उसे लग रहा था कि अगर उसके पिता ने प्रॉपर्टी बेच दी, तो उसे कुछ नहीं मिलेगा.

ऐसे बच गई अनूप की जान
ऐसे में एक तो पिता के प्रॉपर्टी की चाहत और दूसरा प्रेमी से शादी कर चैन की जिंदगी. इन दो ख्वाहिशों के चलते उसने इतनी बडी साज़िश रच डाली. वो मारना तो अपने भाई को भी चाहती थी. इसलिए उसने उसके जूस में भी जहर मिला दिया था, लेकिन भाई ने जूस कड़वा होने की वजह से पूरा नहीं पिया और बच गया. इ्तेफाक से उसने खुद को जगाने की पहली कोशिश में दरवाजा भी नहीं खोला और इस तरह उसकी जान बच गई.

कहां से किया गया था ज़हर का इंतज़ाम?
अब तक की छानबीन में साफ हो चुका था कि इस क़त्ल में कोमल और रोहित के साथ-साथ मुंबई में तैनात कोमल का पहला ब्वॉयफेंड राहुल भी शामिल था. तफ्तीश में ये भी पता चला कि राहुल ने ही कोमल के मां-बाप के कत्ल के लिए ज़हर का भी इंतज़ाम करवाया था. और सेकंड प्लान के तौर पर उसने अपने भाई रोहित को हत्या में कोमल की मदद करने के लिए कोमल के घर भेजा था. हालांकि कोमल के साथ-साथ दोनों भाइयों को रिमांड पर ले कर पूछताछ करने के बावजूद पुलिस अब तक ये पता नहीं लगा पाई है कि आखिर राहुल ने कत्ल के लिए ज़हर का इंतज़ाम कहां से किया था?

हत्या को आत्महत्या बनाने की साजिश
बहरहाल, साजिश के मुताबिक सब को जूस में जहर मिला कर मारने के बाद इसे आत्महत्या का रूप देना था. इसी इरादे से उसने अपने माता-पिता के मोबाइल से खुद को एक आत्महत्या जैसा एक मैसेज भी भेज कर रख लिया था. वो इसे भाई के वैवाहिक विवाद के चलते तीनों के आत्महत्या का रूप देना चाहती थी. लेकिन जब ज़हर से तीनों की मौत नहीं हुई, तो कोमल और उसके दूसरे आशिक रोहित ने पहले तो गला रेतकर कोमल के मां-बाप की जान ली और फिर भाई के ससुरालवालों को क़ातिल बता कर मामले को उलझा दिया. मगर, इससे पहले कि उसकी साजिश कामयाब होती, दोहरे कत्ल का भेद खुल गया और कातिल बेटी का गुनाह बेपर्दा हो गया और वो सलाखों के पीछे पहुंच गई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें