scorecardresearch
 

दिल्लीः इजरायली दूतावास ब्लास्ट मामले में करगिल के रहने वाले चार छात्रों से पूछताछ

दिल्ली में इजरायल दूतावास के करीब हुए बम धमाके में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल जांच कर रही है. कुछ सुराग और जानकारी के आधार पर ही स्पेशल सेल टीम ने करगिल के मूल निवासी चार छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

इसी साल जनवरी में इजरायली दूतावास के बाहर धमाका हुआ था इसी साल जनवरी में इजरायली दूतावास के बाहर धमाका हुआ था
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 29 जनवरी को इजरायली दूतावास के बाहर हुआ था धमाका
  • एनआईए और स्पेशल सेल की टीम जांच में जुटी
  • मौसाद ने भी शेयर किए थे इनपुट

दिल्ली में इजरायल दूतावास के पास हुए बम धमाके की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 4 छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. चारों छात्र कश्मीर में करगिल के रहने वाले है. पुलिस इस धमाके में इन चारों की भूमिका के बारे में पूछताछ कर रही है.

दिल्ली में इजरायल दूतावास के करीब हुए बम धमाके में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल जांच कर रही है. कुछ सुराग और जानकारी के आधार पर ही स्पेशल सेल टीम ने करगिल के मूल निवासी चार छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक इन चारों की इजरायल दूतावास के पास बम धमाके में क्या कोई भूमिका है या नहीं, इस बारे में पूछताछ कर रही है.

जानकारी के मुताबिक चारों छात्रों को करगिल से ही हिरासत में लिया गया है. इसके बाद उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली लाया गया. अब उनसे पूछताछ की जा रही है. सूत्रों के मुताबिक घटना के दिन यानी 29 जनवरी को इन सभी छात्रों के फोन बंद थे. 

बताते चलें कि दिल्ली में इसी साल 29 जनवरी की शाम इजरायल दूतावास के बाहर आईईडी विस्फोट हुआ था. हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं थी. पहले इस हमले में शक की सुई ईरान की तरफ घूम रही थी. फिर NIA ने नए सिरे से इस मामले में तफ्तीश की. इजरायली एजेंसियों को इस जांच में जो लीड मिली हैं उसको NIA के साथ शेयर किया गया था.

ज़रूर सुनें-- आजतक रेडियो- दोपहर एक बजे का समाचार बुलेटिन - 5 मिनट

दिल्ली के लुटियंस जोन इलाके में स्थित इजरायली दूतावास के बाहर उस IED विस्फोट के बाद हड़कंप मच गया था. मौके से कुछ बॉल-बेयरिंग भी मिले थे. पुलिस के मुताबिक उनका इस्तेमाल बम बनाने में किया गया था. दिल्ली पुलिस को घटनास्थल के पास से एक लिफाफा भी मिला था. इस लिफाफे में एक चिट्ठी थी, जिसमें इजरायल के राजदूत को संबोधित कर लिखा था कि 'ये तो बस ट्रेलर है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें