scorecardresearch
 

ऑपरेशन चक्र: सीबीआई को FBI-इंटरपोल से मिले इनपुट, देशभर में 105 जगह मारी रेड, 300 से ज्यादा संदिग्ध रडार में

ऑपरेशन चक्र: सीबीआई ने मंगलवार को देशभर में ताबड़तोड़ छापेमारी की है. सीबीआई ने साइबर क्राइम को लेकर दिल्ली, राजस्थान, पंजाब समेत कई राज्यों में छापेमारी की. इस छापेमारी को ऑपरेशन चक्र नाम दिया गया है. इस रेड में सीबीआई के साथ कई राज्यों की पुलिस भी शामिल थी. छापेमारी में कई अहम दस्तावेज भी बरामद हुए हैं.

X
सीबीआई की देशव्यापी रेड में 300 से ज्यादा संदिग्ध जांच के दायरे में आए (सांकेतिक फोटो)
सीबीआई की देशव्यापी रेड में 300 से ज्यादा संदिग्ध जांच के दायरे में आए (सांकेतिक फोटो)

ऑपरेशन चक्र: सीबीआई ने मंगलवार को कई राज्यों की पुलिस के साथ पूरे भारत में ऑपरेशन चक्र चलाया.  यह हाल में हुई सबसे बड़ी रेड में से एक है. सीबीआई को इंटरपोल, एफबीआई, रॉयल कैनेडियन माउंटेन पुलिस और ऑस्ट्रेलियन फेडरल एजेंसी से साइबर क्राइम से जुड़े इनपुट मिले थे, जिसके बाद यह ऑपरेशन चलाया गया. ऑपरेशन चक्र के तहत देश में कुल 105 जगहों की तलाशी ली गई. इनमें से 87 जगहों पर सीबीआई ने और 27 जगहों पर राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस ने रेड मारी. इस देशव्यापी रेड में 300 से ज्यादा संदिग्ध जांच के दायरे में हैं. 

राजस्थान: 1.5 करोड़ कैश, 1.5 किलो सोना जब्त

जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने राजस्थान में एक परिसर से 1.5 करोड़ रुपये नकद और 1.5 किलो सोना भी बरामद किया है. वहीं इस रेड में टीम को डिजिटल सबूत मिले हैं, जिन्हें जब्त कर लिया गया है. इसके अलावा उन्हें वित्तीय लेनदेन से जुड़े दस्तावेज भी मिले हैं.

पुणे-अहमदाबाद में कॉल सेंटरों का भंडाफोड़

जानकारी के मुताबिक सीबीआई जांच में धोखाधड़ी में शामिल 2 कॉल सेंटरों का भंडाफोड़ हुआ है. पुणे और अहमदाबाद में धोखाधड़ी करने वालो कॉल सेंटरों का पता चला है. ये कॉल सेंटर अमेरिकी नागरिकों को निशाना बना रहे थे.

इन राज्यों की पुलिस ने भी छापा मारा

जानकारी के मुताबिक ऑपरेशन चक्र के तहत पुलिस ने अंडमान निकोबार में 4, दिल्ली में 5, चंडीगढ़ में 3, असम, कर्नाटक और पंजाब में 2-2 जगह छापेमारी की.

24 सितंबर को चलाया था ऑपरेशन मेघचक्र

सीबीआई ने 24 सितंबर को चाइल्ड सेक्सुअल पोर्नोग्रार्फी मामले में ऑपरेशन मेघचक्र चलाया था.  इसके तहत देशभर के 20 राज्यों में 26 जगहों पर रेड मारी गई थी. सीबीआई ने कई ऐसे गैंग की पहचान की थी, जो न केवल चाइल्ड सेक्सुअल पोर्नोग्राफी के सम्बंधित साम्रगी, बल्कि बच्चों को फिजिकली ब्लैकमेल कर उसका इस्तेमाल करते हैं. सीबीआई को इंटरपोल के जरिये सिंगापुर से इनपुट्स मिले थे, जिसके बाद ये छापेमारी की गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें