scorecardresearch
 

SSP सर की पाठशाला...सिखाए साइबर क्राइम से सावधान रहने के गुर

ऐसे बहुत कम पुलिस अफसर होते हैं, जो क्राइम कंट्रोल के साथ ही छात्र-छात्राओं के बीच पाठशाला लगा कर एक अच्छे टीचर की भूमिका भी निभाते हैं. उन्हीं अफसरों में से एक हैं, आगरा के एसएसपी अमित पाठक.

आगरा के एसएसपी अमित पाठक आगरा के एसएसपी अमित पाठक

ऐसे बहुत कम पुलिस अफसर होते हैं, जो क्राइम कंट्रोल के साथ ही छात्र-छात्राओं के बीच पाठशाला लगा कर एक अच्छे टीचर की भूमिका भी निभाते हैं. उन्हीं अफसरों में से एक हैं, आगरा के एसएसपी अमित पाठक. उनके प्रयास से दो पहिया वाहन चालक हैलमेट लगाना तो सीख गए, अब साइबर क्राइम की बारीकियां समझाने के लिए एक टीचर के रूप में सामने आए.

वर्तमान समय में साइबर क्राइम देश में तेजी के साथ अपना पैर फैला रहा है. पुलिस की पाठशाला में सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राओं को न केवल जिन्दगी में सफल होने के सूत्र दिए, बल्कि साइबर क्राइम से किस तरह सावधान रहा जा सकता है, उसको भी विस्तार से समझाया. छात्र-छात्राओं को हिदायत दी कि भूल से भी निजी जानकारी कहीं पर भी शेयर न करें.

अमित पाठक ने अपने विद्यार्थी जीवन के कुछ पहलुओं को सामने रखते हुए बताया कि हर इंसान में कोई न कोई खूबी जरूर होती है. उसे पहचानने की जरूरत है. यदि आप अभी पूरा ध्यान पढ़ाई में लगा लेते हैं, तो अपना कैरियर भी अच्छा बना लेंगे. आपके अपने सपने भी साकार हो जाएंगे. विद्यार्थियों को सबसे पहले अनुशासन में रहना सीखना होगा.

उन्होंने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि जीवन में कभी भी व्हाट्सऐप और फेसबुक पर अपनी निजी सामग्री शेयर न करें. अंजान इंसान को अपनी डिटेल भी कभी न बताएं. वीडियो कॉल करने में भी सावधानी बरतें और अपनी लोकेशन भी गुप्त रखें. इतना ही नहीं उन्होंने ट्रैफिक नियमों का पालन करने की अपील करते हुए हैलमेट लगाने के फायदे भी बताए.

एक छात्रा रितिका ने बताया कि आगरा में पहली बार पुलिस अंकल ने ऐसी क्लास लगा कर हमें जागृत किया है. इसी तरह की क्लास भविष्य में भी लगती रहनी चाहिए. कक्षा 12 के छात्र श्रेयस कुमार का कहना था कि कोई सीनियर अफसर इस तरह छात्रों को भविष्य की उन्नति और सुरक्षा हेतु समझाते हुए क्लास ले रहा है, यह हमें प्रेरित करता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें