scorecardresearch
 

UP: BJP विधायक से नोकझोंक में ब्लॉक प्रमुख के भाई ने निकाल ली रिवॉल्वर, वीडियो वायरल

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में बीजेपी विधायक योगेश वर्मा और ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता के बीच जमकर नोकझोंक हुई. इस दौरान ब्लॉक प्रमुख के भाई ने रिवॉल्वर निकाल ली.

बीजेपी विधायक और ब्लॉक प्रमुख के बीच नोकझोंक बीजेपी विधायक और ब्लॉक प्रमुख के बीच नोकझोंक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंचायत चुनाव को लेकर नोकझोंक
  • मौके पर पहुंचे DM-SP

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में बीजेपी विधायक योगेश वर्मा और ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता के बीच जमकर नोकझोंक हुई. इस दौरान ब्लॉक प्रमुख के भाई ने रिवॉल्वर निकाल ली. मौके पर मौजूद लोगों ने दोनों पक्षों को समझाया. इसके बाद मामला शांत हुआ. इस पूरी घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. 

बताया जा रहा है कि नकहा ब्लॉक में चल रहे नाम वापसी और चुनाव आवंटन कार्यक्रम के दौरान ब्लॉक परिसर में नामांकन पत्र वापसी को लेकर लखीमपुर सदर सीट से बीजेपी विधायक योगेश वर्मा और नकहा ब्लाक के प्रमुख पवन गुप्ता में जमकर नोकझोंक हो गई. नोकझोंक इस कदर हुई कि ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता के भाई ने विधायक के सामने रिवॉल्वर निकाल ली.

क्या है पूरा मामला
नकहा ब्लॉक में क्षेत्र पंचायत सदस्य अपना नामांकन करा रहे थे. बीजेपी विधायक योगेश वर्मा अपने चहेते के खिलाफ खड़े होने वाले प्रत्याशियों पर नाम वापसी का दबाव बना रहे थे तो मौजूदा ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता बीजेपी विधायक के नजदीकियों पर दबाव बना रहे थे. इसको लेकर ही बीजेपी विधायक योगेश वर्मा और ब्लॉक प्रमुख पवन गुप्ता के बीच नोकझोंक हुई. 

इस दौरान ब्लॉक प्रमुख के भाई संजय गुप्ता ने बीजेपी विधायक के सामने पिस्टल निकाल ली, जिस पर मौके पर मौजूद लोगों ने उसे किसी तरह समझाया और तब जाकर मामला शांत हुआ. ब्लॉक परिसर में बीजेपी विधायक और ब्लॉक प्रमुख के बीच हुई भिड़ंत की जानकारी मिलने के बाद लखीमपुर खीरी जिले के डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे.

लखीमपुर सदर सीट से बीजेपी विधायक योगेश वर्मा ने आरोप लगाया है कि चार प्रत्याशी हमारे समर्थन में बैठने के लिए आए थे, वो जैसे ही अंदर गए, पवन गुप्ता और उनके भाईयों ने बदसलूकी शुरू कर दी. विधायक का आरोप है कि एक ने हमारा कॉलर पकड़ने की कोशिश की लेकिन हमारे गनर और साथी ने उसको धक्का देकर अलग कर दिया.

बीजेपी विधायक योगेश वर्मा ने कहा कि इस तरीके की गुंडई कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी, चुनाव के दौरान असलहा जमा हो जाना चाहिए था, इनका लाइसेंस निरस्त होना चाहिए.

वहीं लखीमपुर खीरी जिले के डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि पर्चा वापसी को लेकर दो गुटों में विवाद हुआ था, मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया गया है, जांच कराई जा रही है, जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें