scorecardresearch
 

UP: पुलिस करती रही गश्त और चोरों ने उड़ाए 12 लाख रुपये के मोबाइल

दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी की फुटेज देखने से उसे पता चला कि 18 जुलाई की रात करीब 2 बजे जिस समय दुकान के अंदर चोर घुसकर मोबाइल की चोरी कर रहे थे, उसी दौरान दुकान के आसपास पुलिस की पीसीआर गश्त कर रही थी.

नोएडा पुलिस (फाइल फोटो) नोएडा पुलिस (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक ही शोरूम में दूसरी बार चोरी
  • इस बार 12 लाख रुपये के मोबाइल गायब

ग्रेटर नोएडा के कासना इलाके में चोरों की दिलेरी का मामला सामने आया है. यहां पर चोरों ने एक मोबाइल शोरूम को 65 दिनों के अंदर दो बार अपना निशाना बनाया है. हैरानी की बात यह है कि पहली बार जब इस शोरूम में 8 लाख रुपए के मोबाइल की चोरी हुई तो पुलिस कंप्लेंट के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई.

दादरी के मायचा निवासी कमल सिंह भाटी की कासना चौराहे पर एमएस ट्रेडर्स के नाम से मोबाइल की दुकान है. 13 मई की देर रात बदमाशों ने दुकान का शटर काटकर दुकान में रखे करीब 8 लाख रुपये के मोबाइल चोरी कर लिए थे. पीड़ित ने बताया कि पुलिस ने एफआइआर दर्ज करने के बाद जांच के नाम पर खानापूर्ति करती रही.

पुलिस की ओर से जांच की बात कही जाती रही, लेकिन ना तो चोर मिले और ना ही चुराए गए मोबाइल फोन ही बरामद हो सके. अपने अंदाज में पुलिस जांच में जुटी थी कि चोरों ने पुलिस को दोबारा चुनौती दे दी और उसी शोरूम को दोबारा निशाना बनाते हुए इस बार 12 लाख रुपए के मोबाईल लूट लिए.

शनिवार 18 जुलाई देर रात बदमाशों ने एक बार फिर एमएस ट्रेडर्स का शटर काटकर दुकान से करीब 12 लाख रुपये के मोबाइल चोरी कर लिए. इस बार फिर पुलिस अफसरों ने बताया है कि पीड़ित की तहरीर पर मामला दर्ज कर जांच की जा रही है. चोरी के पहले मामले में पुलिस को सभी मोबाइल के आईएमईआई नंबर मुहैया कराए गए, जिनकी लोकेशन बिहार में मिली थी लेकिन इसके बावजूद भी पुलिस चोरों तक नहीं पहुंच सकी. 

दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी की फुटेज देखने से उसे पता चला कि 18 जुलाई की रात करीब 2 बजे जिस समय दुकान के अंदर चोर घुसकर मोबाइल की चोरी कर रहे थे, उसी दौरान दुकान के आसपास पुलिस की पीसीआर गश्त कर रही थी. 13 मई को चोरी के दौरान भी सीसीटीवी फुटेज पुलिस के हाथ लगी थी, उस पर भी अब तक कार्रवाई न हुई है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें