scorecardresearch
 

भू माफिया के खौफ से भागा ड्राइवर तो खुद IAS अफसर ने ट्रैक्टर चला छुड़ाया कब्जा

सोमवार को आईएएस अधिकारी एसडीएम सदर विक्रमादित्य मलिक अपनी टीम के साथ गांव खान जहांपुर बहादर गांव में पहुंचे और गांव में मुनादी कराते हुए बताया कि यह जमीन तहसील के रिकॉर्ड में तालाब के नाम से दर्ज है.

IAS अधिकारी ने खुद ट्रैक्टर चला जमीन से कब्जा छुड़वाया. IAS अधिकारी ने खुद ट्रैक्टर चला जमीन से कब्जा छुड़वाया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बिजनौर के गांव खान जहांपुर बहादर का मामला
  • IAS अधिकारी ने खुद ट्रैक्टर चला छुड़ाया कब्जा

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में सरकार के निर्देश पर चल रहे तालाब कब्जा मुक्त अभियान के तहत सोमवार को आईएएस अधिकारी ने तालाब को कब्जा मुक्त कराने के लिए खुद ट्रैक्टर चलाकर तालाब के ऊपर खड़ी फसल को ट्रैक्टर से जोत दिया. तालाब को कब्जा मुक्त कराने के बाद उसे ग्राम पंचायत अधिकारी के सुपुर्द करते हुए उसमें मनरेगा के तहत तालाब खोदने का काम शुरू करा दिया है.

बिजनौर के गांव खान जहांपुर बहादर में गांठा संख्या 8 में एक जमीन तालाब के नाम से तहसील रिकॉर्ड में दर्ज है. इस रिकॉर्ड को लेकर सोमवार को आईएएस अधिकारी एसडीएम सदर विक्रमादित्य मलिक अपनी टीम के साथ गांव खान जहांपुर बहादर गांव में पहुंचे और गांव में मुनादी कराते हुए बताया कि यह जमीन तहसील के रिकॉर्ड में तालाब के नाम से दर्ज है. इसलिए जिन लोगों ने भी इस जमीन पर फसल लगाई हुई है वह तुरंत अपनी फसल हटा लें वरना इसको अपने कब्जे में लेते हुए पूरी फसल को ट्रैक्टर द्वारा जोत दिया जाएगा.

इस मुनादी के बाद भी कोई भी इस जमीन से अपना कब्जा हटाने के लिए तैयार नहीं हुआ तो एसडीएम ने ट्रैक्टर चालक को इस जमीन पर खड़ी फसल को जोतने के आदेश दिए लेकिन स्थानीय भू माफियाओं के डर से ट्रैक्टर चालक ने जमीन पर ट्रैक्टर चलाने से इनकार कर दिया और ट्रैक्टर छोड़कर फरार हो गया इसके बाद एसडीएम सदर विक्रमादित्य मलिक ने अपने साथ आई टीम का हौसला बढ़ाते हुए खुद ट्रैक्टर पर सवार हुए और ट्रैक्टर चलाते हुए तालाब की इस भूमि पर खड़ी पूरी फसल को ट्रैक्टर से जोत दिया.

इसपर भी क्लिक करें- UP: शख्स ने गर्लफ्रेंड के पिता की गला दबाकर की हत्या, बेटी से शादी करवाने से किया था इनकार
 
जमीन को कब्जा मुक्त कराने के बाद इस जमीन पर ग्राम पंचायत सेक्रेटरी को मनरेगा के तहत तालाब का सौंदर्यीकरण कराने के निर्देश दिए.आईएएस अधिकारी की इस कार्रवाई के बाद भू माफियाओं में खौफ पसर गया है. 

एसडीएम विक्रमादित्य मलिक का कहना है कि शासन के निर्देश पर चलाए जा रहे तालाब कब्जा मुक्त अभियान को आगे भी जारी रखा जाएगा और जितने भी तालाबों पर कब्जे हुए हैं उन सभी को कब्जा मुक्त कराकर उनका सौंदर्यीकरण करते हुए उनको पुनर्जीवित किया जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×