scorecardresearch
 

Singhu Border Murder: सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनकारियों के मंच के पास युवक की हत्या, निहंगों पर आरोप, किसान मोर्चे ने बुलाई आपात बैठक

Singhu Border Murder: सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों के मंच के पास शुक्रवार सुबह एक शख्स का शव मिला. इस हत्या का आरोप निहंग सिखों पर लगा है.

X
सिंघु बॉर्डर पर एक शख्स की हत्या हुई है (सांकेतिक तस्वीर) सिंघु बॉर्डर पर एक शख्स की हत्या हुई है (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सिंघु बॉर्डर पर शख्स की हत्या
  • निहंग सिखों पर लगा है आरोप
  • SKM ने बुलाई आपातकालीन बैठक

Singhu Border Murder: सिंघु बॉर्डर पर जहां किसानों का प्रदर्शन हो रहा है वहां शुक्रवार सुबह एक शव मिलने से हंगामा मच गया. किसानों के प्रदर्शन स्थल के पास शख्स को जिस बेदर्दी से मारा गया था, उसने सबके रोंगटे खड़े कर दिए. अब संयुक्त किसान मोर्चा ने दावा किया है कि इस हत्या के पीछे निहंग सिख हैं. उन्होंने ही उस शख्स का हाथ काटा और जान ली. फिलहाल पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है. मारे गए शख्स की पहचान हो गई है.

दूसरी तरफ संयुक्त किसान मोर्चा ने खुद को निहंग सिखों से अलग कर लिया है और कहा कि वह जांच में पुलिस का पूरा सहयोग देंगे. इसके अलावा सुबह एक आपातकालीन मीटिंग भी बुलाई गई है, जिसमें इस घटना पर बात होगी. मीटिंग में संयुक्त किसान मोर्चा की कॉर्डिनेशन कमेटी के सात सदस्य शामिल होंगे.

निहंगों पर लगा हत्या का आरोप

सिंघु बॉर्डर पर शख्स की हत्या करने का आरोप निहंग सिखों पर लगा है. संयुक्त किसान मोर्चा ने भी उनपर ही आरोप लगाए हैं. इसपर किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल का बयान भी आया है.

'इस घटना के पीछे निहंग हैं. उन्होंने इस बात को मान भी लिया है. निहंग सिख शुरुआत से हमारे लिए समस्या खड़ी कर रहे हैं.'

SKM के नेता बलबीर सिंह राजेवाल

मृतक की पहचान हुई

मृतक की पहचान लखबीर सिंह के रूप में हुई है. उनके पिता का नाम दर्शन सिंह था लेकिन 6 महीने की उम्र में फूफा हरनाम सिंह ने लखबीर सिंह को गोद ले लिया था. लखबीर सिंह पेशे से मजदूर थे और उनकी उम्र 35-36 साल थी. SC जाति के लखबीर सिंह तरन-तारान जिले के चीमा खुर्द गांव के रहने वाले थे.

उनके माता-पिता की मौत हो चुकी है. परिवार में अब सिर्फ एक विधवा बहन (राज कौर) है. उनकी पत्नी जसप्रीत कौर साथ में नहीं रहती थी. वह उनके तीन बच्चों को लेकर अलग रहती हैं. इसमें तीन बेटियां शामिल हैं. जिनकी उम्र 8 से 12 साल के बीच है.

शख्स का काटा था हाथ

बता दें कि उस शख्स का हाथ काटकर शव को बैरिकेड से लटकाया गया था. आंदोलनकारी शुरुआत में पुलिस को भी मुख्य मंच के पास नहीं जाने दे रहे थे. हालांकि, बाद में कुंडली थाना पुलिस ने शव को उतारा और सिविल हॉस्पिटल लेकर पहुंची. 35 साल के उस शख्स के शरीर पर धारदार हथियार से हमले के निशान मिले हैं. जिस युवक को मारा गया है उसका हाथ कलाई से काट दिया गया है.

घटना पर पुलिस का भी बयान आया है. उन्होंने कहा कि अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. डीसीपी हंसराज ने कहा, 'कुंडली, सोनीपत बॉर्डर पर जहां किसानों का प्रदर्शन चल रहा है. वहां सुबह पांच बजे एक शव लटका मिला. उसके हाथ और टांग कटी हुई थी. हत्या किसने की यह फिलहाल साफ नहीं है. अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. एक वीडियो भी वायरल है, जिसकी जांच हो रही है.'

FIR में लिखा है कि 15-10-2021को कोंडली थाने के ASI के मुताबिक उसे सुबह 5 बजे एक सूचना प्राप्त हुई कि किसान आंदोलन में निहंगों ने एक आदमी का हाथ काट दिया और उसको लोहे के एक बैरिकेड पर रस्सी से बांध कर लटका रखा है. किसान आंदोलन के बीच सिंघु बॉर्डर की तरफ रोड पर ही एक आदमी के एक हाथ और पैर काटकर  लटका रखा था जिसकी मृत्यु हो गई थी. वहां आस पास काफी संख्या में निहंग एकत्रित थे जिनसे ASI ने पूछताछ करने की कोशिश की तो किसी ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया और न मृतक की लाश को उतारने दिया गया.

इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ IPC की धारा 302/34 के तहत मामला दर्ज किया गया है और FSL टीम को सूचना दी गई है.

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने सिंघु बॉर्डर की घटना पर राकेश टिकैत पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा, 'अगर राकेश टिकैत ने योगेंद्र यादव के बगल में बैठकर लखीमपुर में हुई मॉब लिंचिंग को जायज नहीं ठहराया होता तो, वह चुप रहते तो कुंडली में आज शख्स की हत्या नहीं होती. किसानों के नाम पर आंदोलन में हो रही अराजकता का पर्दाफाश होना चाहिए.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें