scorecardresearch
 

Sidhu Moosewala murder case: पुलिस ने लॉरेंस बिश्नोई- मनमोहन का कराया आमना-सामना, हुआ ये खुलासा

सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में पंजाब पुलिस ने मनमोहन नाम के बदमाश को प्रोडक्शन वारंट पर पूछताछ के लिए कस्टडी में लिया है. मनमोहन सिंह उर्फ मोहना पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के लिए काम करता था और उसे 30 मार्च 2022 को गिरफ्तार किया गया था.

X
मनमोहन से पुलिस कर रही है पूछताछ मनमोहन से पुलिस कर रही है पूछताछ
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लॉरेंस बिश्नोई- मनमोहन को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ कर रही पुलिस
  • पंजाब चुनाव के दौरान मनमोहन ने दो बार की थी रेकी

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में पुलिस लगातार जांच पड़ताल में जुटी हुई है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुजरात के मुद्रा से तीन लोगों को हिरासत में लिया है.

तीनों लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़े हुए हैं. इसके पहले पुणे पुलिस ने गुजरात से ही संतोष जाधव को गिरफ्तार किया था जिस पर सिद्धू मूसेवाला पर गोली चलाने का शक है.

पुलिस के मुताबिक पकड़े गए तीनों बदमाश हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर नरेश सेठी के गुर्गे हैं. नरेश सेठी अब लॉरेंस बिश्नोई के साथ जुड़ा हुआ है, नरेश सेठी पर दिल्ली पुलिस ने मकोका के तहत केस दर्ज किया है. 

वहीं दूसरी तरफ मूसेवाला की हत्या के मामले में मानसा जेल से पंजाब पुलिस ने मनमोहन नाम के बदमाश को प्रोडक्शन वारंट पर पूछताछ के लिए कस्टडी में लिया है. मनमोहन सिंह उर्फ मोहना पंजाब के कुख्यात गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के लिए काम करता है. मनमोहन को 30 मार्च 2022 को पटियाला से गिरफ्तार किया गया था. 30 मार्च को मनमोहन को पिस्टल, 45 कारतूस और एक फॉर्च्यूनर कार के साथ पकड़ा गया था. 

उसने पूछताछ में खुलासा किया है की पंजाब विधानसभा चुनाव- 2022 के दौरान सिद्धू मूसेवाला की 2 बार रेकी की थी. तिहाड़ जेल मे बंद लॉरेंस के कहने पर जग्गू भगवानपुरिया ने मनमोहन को रेकी का काम सौंपा था. अब फिर से मनमोहन को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर लॉरेंस से आमना-सामना करवाकर पूछताछ हो रही है.

केकड़ा को दूसरे जेल में किया गया शिफ्ट

सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मामले में  रेकी करने वाले आरोपियों में से एक केकड़ा पर मुक्तसर जेल में हमला होने के बाद उसे दूसरी जेल में शिफ्ट किया गया है. मुक्तसर जेल के जेल सुप्रीटेंडेंट ने आज तक को बताया की 14 जून की शाम को केकड़ा को जेल लाया गया था.

उन्होंने कहा, मुझे लगा की दिक्कत हो सकती है इसलिए आईजी से बात कर ली और अगली सुबह 15 जून को केकड़ा को दूसरे जेल में शिफ्ट कर दिया. 

जेल सुप्रीटेंडेंट ने बताया की गैंगवार की आशंका थी.  केकड़ा पर हमले को लेकर सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावों को लेकर उन्होंने कहा कि हमला नहीं हुआ बस केकड़ा का लॉरेंस विरोधी गैंग के साथ आमना सामना हो गया था. इसके बाद उसे अलग जेल में शिफ्ट कर दिया गया.

केकड़ा को 15 जून को मुक्तसर जेल से गोइंदवाल साहिब जेल में शिफ्ट कर दिया गया था. बता दें कि 29 मई 2022 को पंजाब के मनसा में सिद्धू मूसेवाल की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी.

ये भी पढ़ें: 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें