scorecardresearch
 

रिंकू शर्मा हत्याकांड: क्या हुआ था उस बर्थडे पार्टी वाली रात? जानिए चश्मदीदों की जुबानी

चश्मदीद आकाश ने दावा किया कि जब हमने देखा तो रिंकू के घर पर अटैक हुआ था, लोग डंडे मार रहे थे. भीड़ बहुत थी. तभी शोर मचा कि रिंकू को चाकू लग गया है. फिर सब संजय गांधी अस्पताल आए. वहां जाहिद के मामा ने मेरे साथ बदसलूकी की.

X
रिंकू शर्मा (फाइल फोटो) रिंकू शर्मा (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रिंकू शर्मा हत्याकांड में चश्मदीदों के बयान
  • जन्मदिन की पार्टी के दौरान दोनों में हुआ था झगड़ा
  • चश्मदीद ने कहा- रिंकू झगड़े में नहीं था शामिल

दिल्ली के मंगोलपुरी में रिंकू शर्मा नाम के युवक की हत्या के मामले में पुलिस का कहना है कि पार्टी में हुए झगड़े के बाद विवाद बढ़ा और इसके बाद ये वारदात हुई. इस बीच इस घटना को लेकर तीन चश्मदीदों का बयान सामने आया है. बाबू नाम के शख्स ने दावा किया कि रेस्टोरेंट में उसकी जन्मदिन पार्टी में सभी दोस्त इकट्ठे हुए थे. यहां आपस में किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ. जिसके बाद सभी रेस्टोरेंट से चले गए. लेकिन बाद में ये घटना हो गई. 

क्या बोला चश्मदीद बाबू  

आजतक से बात करते हुए बाबू ने कहा कि 'मेरा जन्मदिन 9 फरवरी को था. 10 को मैंने अपने दोस्तों को पार्टी दी थी. उस पार्टी में रिंकू, सचिन, आकाश, संदीप, गोलू और गोलू के साथ जाहिद उर्फ चिंगू आया था. सूरज बोला कि जाहिद को साथ लेकर आऊंगा. वहां मैंने देखा कि अचानक से सचिन और जाहिद में झगड़ा हो गया. फिर सचिन ने जाहिद को चांटा मार दिया. बदले में जाहिद ने भी उसे चांटा मारा.' 

चश्मदीद बाबू ने आगे बताया, 'मैंने सचिन को घर भेज दिया. झगड़े के दौरान रिंकू शर्मा आकाश के बगल में बैठा था. मैं, आकाश और राहुल साथ थे तभी रिंकू ने कहा वह घर जा रहा है. लेकिन जैसे ही गली में मुड़ा तो पीछे से हल्ला हुआ. चाकू लगने के बाद भगदड़ मच गई. मुझे मेरा भाई घर लेकर चला गया. मां ने घर में  मुझे मार लगाई. उसके बाद मुझे नहीं पता क्या हुआ? 

दूसरे चश्मदीद आकाश का बयान 

एक और चश्मदीद आकाश ने कहा, 'मेरे दोस्त की पार्टी थी. खाना ऑर्डर किया था. रात के करीब 9 से साढ़े 9 हो रहे थे. दो लोग घर जा चुके थे. इस बीच सचिन और जाहिद के बीच कहासुनी के बाद हाथापाई होने लगी. फिर दुकान के मालिक ने सबको बाहर भेज दिया. मेरे और रिंकू के साथ सब घर आ गए. फिर बाबू (जिसका जन्मदिन था) ने कहा कि घर पर केक काटेंगे. रिंकू ने कहा वो घर जा रहा है, तभी हमें शोर सुनाई दिया.'  

आकाश ने आगे कहा कि 'जब जाकर देखा तो रिंकू के घर पर अटैक हुआ था, लोग डंडे मार रहे थे. भीड़ बहुत थी. उसकी फैमिली को बचा रहे थे. तभी शोर मचा कि रिंकू को चाकू लग गया है. फिर सब संजय गांधी अस्पताल आए. अस्पताल में जाहिद के मामा तवजुद्दीन ने मेरे साथ बदसलूकी की. मामले में रिंकू का कोई लेना देना नहीं था वो तो घर जाने को कह रहा था. 

चश्मदीद सचिन ने कही ये बात 

जब सचिन से पूछा गया कि किस बात पर झगड़ा हुआ था? तो उसने कहा कि 'हम मजे कर रहे थे, तभी अचानक से जाहिद ने मुझे गाली दी. मेरे घर के नीचे 10 से 12 लड़के आए थे. फिर हमने 100 नंबर पर कॉल किया. मेरी सूरज से बातचीत नहीं होती लेकिन जाहिद को लगा कि मैं उससे बात कर रहा हूं. सेक्टर-2 रोहिणी में मेरा रेस्टोरेंट खुला था. पास में ही सूरज ने भी 10  दुकान आगे रेस्टोरेंट खोल दिया. तब से बातचीत बिल्कुल बंद हो गई.' 

घटना के बाद इलाके में तैनात पुलिस बल

सचिन ने कहा, 'पार्टी के वक्त मैं और आकाश बात कर रहे थे, तभी जाहिद उठ गया और सूरज ने मुझे धक्का दे दिया. फिर मैंने उसे चांटा मारा उसने भी मुझे मारा. गाली को लेकर झगड़ा हुआ. 

मामले में पुलिस का बयान 

वहीं, इस पूरे मामले में दिल्ली पुलिस के PRO ने कहा है कि 10 फरवरी को मंगोलपुरी इलाके में कुछ लड़के जन्मदिन मनाने के लिए एक रेस्टोरेंट में इकट्ठा हुए. उनमें से कुछ लोगों में लड़ाई हुई जिसके बाद वो चले गए. उसी रात उनके बीच दोबारा लड़ाई हुई, जिसमें एक लड़के की मौत हो गई. पुलिस ने FIR दर्ज करके आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया है. आरोपियों में मोहम्मद दानिश, तसुद्दीन, मोहम्मद इस्लाम, जाहिद और मोहम्मद मेहताब को गिरफ्तार किया गया है. 

परिजन बोले- हत्या के पीछे राम मंदिर है वजह 

हालांकि, रिंकू के परिवार का कहना है कि राम मंदिर से जुड़े रहने और राम यात्रा निकालने के बाद से इलाके में तनाव था और रिंकू को धमकी मिल रही थी. परिवार के आरोप के बाद बीजेपी से लेकर वीएचपी तक ने इसे राममंदिर निर्माण के लिए किए जा रहे चंदासंग्रह से जोड़ा है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें