scorecardresearch
 

राजस्थान: हनीट्रैप गिरोह का पर्दाफाश, अश्लील वीडियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, मास्टरमाइंड समेत 4 गिरफ्तार

राजस्थान के करौली में पुलिस ने एक हनीट्रैप गिरोह का पर्दाफाश किया है. गैंग में शामिल 2 महिलाओं समेत 4 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं. गिरोह का मास्टरमाइंड भी गिरफ्तार कर लिया गया है. यह गैंग अश्लील वीडियो के नाम पर उगाही कर रहा था.

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी. पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अश्लील वीडियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल
  • पुलिस ने जाल बिछाकर की गिरफ्तारी
  • सरगना समेत 2 महिलाएं भी गिरफ्तार

राजस्थान के करौली जिले में पुलिस ने एक एक्टिव हनीट्रैप गैंग का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने गैंग के मुख्य सरगना को भी गिरफ्तार कर लिया है. वहीं 2 महिलाओं समेत कुल 4 लोगों को पुलिस ने धर दबोचा है. करौली के कोतवाली थाने में एक शख्स ने केस दर्ज कराया था कि कुछ लोग अश्लील वीडियो के नाम पर उससे 10 लाख रुपये मांग रहे हैं. पुलिस ने सोमवार को आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 

हनीट्रैप का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने एक टीम गठित की और यह जानने की कोशिश की कि क्या वाकई 10 लाख रुपये ही मांगे जा रहे हैं. आरोपियों ने शख्स को जिस जगह पर पैसे देने के लिए बुलाया था, वहां पहले से ही जाल बिछाकर पुलिस टीम बैठी थी. जैसे ही आरोपी पहुंचे, पुलिस ने पूरी टीम को गिरफ्तार कर लिया.

गिरोह के सरगना प्रकाश मीणा और उसकी महिला सहयोगी ने पुलिस के साथ हुई पूछताछ में कई अहम खुलासे किए. आरोपियों का कहना है कि उन्हें हाईप्रोफाइल जिंदगी जीने और महंगे शौक के लिए पैसों की जरूरत थी. कोई रोजगार नहीं था इसलिए शौक पूरे नहीं हो पा रहे थे. फिर हमने मिलकर ऐसी योजना बनाई कि जल्द से जल्द हमारे पास पैसे आ जाएं. 

युवती ने दारोगा पर लगाया अश्लील मैसेज भेजने का आरोप, SP बोले- WhatsApp चलाना जरूरी है?

10 लाख की उगाही करना चाहते थे आरोपी

आरोपियों ने फिर एक शख्स को फंसाने के लिए साजिश रची. प्रकाश ने अपने ही दोस्त को जाल में फंसा लिया. उसका वीडियो वायरल करने और रेप का केस दर्ज कराने का डर दिखाकर 10 लाख रुपये की उगाही करनी चाही. आरोप है कि उसने पीड़ित को फोन किया फिर उसी दौरान अश्लील वीडियो चैट बनाकर पैसे ऐंठने का दबाव देने लगा.
 


जांच में जुटी पुलिस टीम

11 जुलाई को पीड़ित ने करौली पुलिस स्टेशन में आरोपी प्रकाश मीणा के साथ अन्य दो महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज कराया था. पुलिस ने गंभीरता से इस केस की पड़ताल की और आरोपियों की गिरफ्तारी की. पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि क्या दूसरे लोगों को भी इस गैंग ने शिकार बनाया है या नहीं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×