scorecardresearch
 

रायबरेली: हिस्ट्रीशीटर ने उपचुनाव में नामांकन रोकने के लिए की कई राउंड फायरिंग, फरार

सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में उपचुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, लेकिन उसके पहले दिन ही हिस्ट्रीशीटर बदमाशों ने जिला प्रशासन द्वारा किये गए सुरक्षा के दावों की पोल खोल कर रख दी है. पुलिस की मौजूदगी में भी बेखौफ हिस्ट्रीशीटर बदमाश और उसके गुर्गों ने ग्राम वार्ड सदस्य उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल करने से रोकने की कोशिश की.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंचायत उपचुनावों के लिए हो रहे हैं नामांकन
  • प्रत्याशियों को नामांकन करने से रोकने के लिए आए बदमाश
  • फायरिंग करके हो गए फरार

हाल ही में उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय चुनाव संपन्न हुए हैं, लेकिन कई जगह अलग-अलग कारणों से तब चुनाव नहीं हो पाया था. इसके बाद इन क्षेत्रों में उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं, लेकिन उससे पहले ही हिस्ट्रीशीटर बदमाशों ने दहशत फैलाना शुरू कर दिया है. सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में भी उपचुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, लेकिन उसके पहले दिन ही हिस्ट्रीशीटर बदमाशों ने जिला प्रशासन द्वारा किये गए सुरक्षा के दावों की पोल खोल कर रख दी है. पुलिस की मौजूदगी में भी बेखौफ हिस्ट्रीशीटर बदमाश और उसके गुर्गों ने ग्राम वार्ड सदस्य उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल करने से रोकने की कोशिश की.

रायबरेली: गांव में चल रहा था अवैध शराब का धंधा, दबिश देने गई पुलिस तो हुआ पथराव

रायबरेली के मिल एरिया थाना क्षेत्र के अमावां ब्लॉक में पंचायत उपचुनाव के नामांकन प्रक्रिया चल रही है. इसी दौरान हिस्ट्रीशीटर बदमाश बॉबी सिंह अपने गुर्गो के दम पर मनचितपुर ग्राम सभा के वार्ड सदस्यों के लिए नामांकन करने आए उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल करने से रोकने की जबरन कोशिश करने लगा. कुछ प्रत्याशियों ने इसका विरोध भी किया. प्रत्याशियों के विरोध पर हिस्ट्रीशीटर बदमाश बॉबी सिंह और उसके गुर्गो ने दहशत फ़ैलाने के लिए कई राउंड फायरिंग शुरू कर दीं और कुछ उम्मीदवार के पर्चे भी फाड़ दिए.

पंचायत चुनाव में दिनदहाड़े बवाल होने की सूचना मिलने पर पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और एसडीएम सदर, सीओ सिटी सहित कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई. लेकिन तब तक बदमाश मौके से फरार हो चुके थे.

सीओ सिटी महिपाल पाठक ने आजतक को बताया ''बॉबी सिंह नाम के अपराधी पर प्रत्याशियों को धमकाने और फायरिंग की सूचना मिली थी. हम लोग मौके पर पहुंच गए. प्रत्याशी को नामांकन से रोकने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन वो कोशिश कामयाब नही हो सकी. फायरिंग की भी सूचना मिली थी. लेकिन हमारे पास वीडियो में फायरिंग नही है. कानून व्यवस्था की कोई समस्या नही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें