scorecardresearch
 

झारखंडः नौकरी के नाम पर मानव तस्करी का सरगना गिरफ्तार, 4 दिन की पुलिस रिमांड

प्लेसमेंट एजेंसी की आड़ में बड़े पैमाने पर मानव तस्करी को अंजाम देने वाले झारखंड के शंकर महतो को NIA ने गिरफ्तार किया है. शंकर का भाई पन्ना लाल इस रैकेट का मास्टरमाइंड है जिसे पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. पन्ना लाल अपनी पत्नी सुनीता देवी के साथ मिलकर बड़ा मानव तस्करी का धंधा चला रहा था.

X
मानव तस्करी के आरोप में गिरफ्तार (सांकेतिक-रॉयटर्स)
मानव तस्करी के आरोप में गिरफ्तार (सांकेतिक-रॉयटर्स)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मानव तस्करी का जाल झारखंड से लेकर दिल्ली तक फैला हुआ
  • प्लेसमेंट एजेंसी की आड़ में मानव तस्करी कर रहा था शंकर
  • शंकर का भाई पन्ना लाल रैकेट का मास्टरमाइंड, पहले ही गिरफ्तार

केंद्रीय जांच एजेंसी NIA ने झारखंड के रहने वाले शंकर महतो को गिरफ्तार किया है, जो प्लेसमेंट एजेंसी की आड़ में बड़े पैमाने पर मानव तस्करी को अंजाम दे रहा था. शंकर महतो शिव शंकर, लक्ष्मी प्लेसमेंट और बिरसा सिक्योरिटी के नाम से प्लेसमेंट एजेंसी चलाता है. महतो गैंग की मानव तस्करी का जाल बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश से लेकर दिल्ली तक फैला हुआ है.

NIA की प्रवक्ता जया रॉय ने बताया कि शंकर महतो का भाई पन्ना लाल महतो इस रैकेट का मास्टरमाइंड है जिसे पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. पन्ना लाल महतो अपनी पत्नी सुनीता देवी के साथ मिलकर बड़ा मानव तस्करी का धंधा चला रहा था. यानी पूरा परिवार मानव तस्करी करता था. पन्ना लाल महतो की भी दिल्ली में तीन प्लेसमेंट एजेंसी हैं.

देखें: आजतक LIVE TV

NIA की प्रवक्ता रॉय के मुताबिक, इस प्लेसमेंट एजेंसी की आड़ में ये गिरोह गरीब परिवार के लड़के-लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर झारखंड से दिल्ली लाते थे और इनको दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग इलाकों में रखा जाता था. जहां इनका शारीरिक और मानसिक शोषण किया जाता था. आरोपी शिव शंकर महतो को झारखंड के खूंटी से गिरफ्तार किया गया है.

ये केस 9 जुलाई 2019 में झारखंड के खूंटी जिले में दर्ज हुआ था जिसकी जांच 4 मार्च 2020 को NIA ने शुरू की थी. आरोपी शख्स को रांची की स्पेशल NIA कोर्ट में पेश किया गया जिसे 4 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. जांच एजेंसी गिरोह के बाकी साथियो की तलाश कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें