scorecardresearch
 

अस्पताल में नहीं थे डॉक्टर, मेड ने करवा दी डिलीवरी, नवजात की मौत

अस्पताल के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि एक निजी अस्पताल के कुछ कर्मचारियों ने ऑपरेशन बिल का भुगतान नहीं करने पर महिला मरीज को '' बंदी '' बना लिया था. कर्मचारी ने महिला को पहले 20,000 रुपये का भुगतान करने के लिए कहा.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अस्पताल में नौकरानी ने करा दी महिला की डिलीवरी
  • डिलीवरी के बाद नवजात की हुई मौत
  • सीएमओ ने दिए जांच के आदेश

मेरठ के एक अस्पताल में डॉक्टरों की अनुपस्थिति में एक नौकरानी ने कथित तौर पर गर्भवती महिला की डिलीवरी करवा दी जिसके बाद मंगलवार को नवजात की मौत हो गई.

अस्पताल के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि एक निजी अस्पताल के कुछ कर्मचारियों ने ऑपरेशन बिल का भुगतान नहीं करने पर महिला मरीज को '' बंदी '' बना लिया था. कर्मचारी ने महिला को पहले 20,000 रुपये का भुगतान करने के लिए कहा.

महिला के पति मुबारक (32) ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ राजकुमार सैनी के पास शिकायत दर्ज कराई, जिन्होंने मेरठ के खरखौदा क्षेत्र में गोहर अस्पताल में दो सदस्यीय टीम को जांच के लिए भेजा दिया. 

उन्होंने कहा, ''जांच का आदेश दिया गया है और निजी अस्पताल को नोटिस भी दिया गया है. हम अपनी दो सदस्यीय टीम की अंतिम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं.

वहीं मामले की गंभीरता को लेकर मेरठ के जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कहा, "यह एक गंभीर मसला है. मैंने सीएमओ से जांच पूरी करने और अस्पताल मालिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है. बता दें कि एक ऐसा ही मामला बीते दिनों बागपत के अस्पताल से भी सामने आया था. 

ये भी पढें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×