scorecardresearch
 

बहन की शादी में बिजली काटने पर विवाद, पड़ोसी लड़के की हत्या, पहाड़ पर पत्थरों से छिपाया शव

Madhya Pradesh: बिजली काटने को लेकर पड़ोसियों के बीच इतना विवाद बढ़ा कि मामला हत्या तक पहुंच गया. मृतक ने पड़ोस में हो रही एक लड़की की शादी के दौरान लाइट काट दी थी. इससे गुस्साए लड़की के भाई ने बिजली गुल करने वाले युवक को शादी के कुछ दिन बाद बुलाया और दूर ले जाकर उसकी हत्या कर डाली. किसी को कुछ पता न चले इसलिए शव को भी छोटे छोटे पत्थरों से छिपाकर रख दिया.

X
पहाड़ के ऊपर पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया. पहाड़ के ऊपर पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंडला पुलिस ने किया कत्ल का पर्दाफाश
  • शराब पिलाने के बहाने बुलाकर कर दी हत्या
  • पहाड़ के ऊपर पेड़ के नीचे शव को पत्थरों से ढंका

मध्य प्रदेश की मंडला पुलिस ने एक अंधे कत्ल का पर्दाफाश किया है. यह हत्या महज इसलिए हुई क्योंकि मृतक ने कुछ दिन पहले आरोपी की बहन के शादी समारोह में लाइट काट दी थी. पुलिस ने इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. 

दरअसल, पुलिस को खबर मिली थी कि जंगल की पहाड़ी में एक पेड़ के नीचे पत्थर से शव दबा हुआ है.  शव की शिनाख्त राजेंद्र प्रसाद उईके के रूप में हुई थी. पुलिस को पता चला कि कुछ दिन पहले ही ही पड़ोसी से इसका विवाद हुआ था. पुलिस ने संदेह के आधार पर जब पड़ताल शुरू की तो पूरा मामला ही साफ हो गया. राजेंद्र प्रसाद उईके की हत्या कुछ दिन पहले हुए मामूली विवाद की वजह से कर दी गई. 

एएसपी गजेन्द्र सिंह कंवर ने बताया कि मृतक राजेंद्र प्रसाद उईके ने कुछ दिन पहले अपने ही गांव में पड़ोसी के घर हो रही बेटी की शादी के दौरान बिजली काट दी थी. इसे लेकर लड़की के भाई और पिता से उसका विवाद हो गया.

इस विवाद को लड़की के भाई ने अपने दिमाग में बैठा लिया. कुछ दिन बाद ही गांव में हो रही एक अन्य शादी के दौरान आरोपी ने अपने दो अन्य साथियों की मदद से राजेंद्र को शराब पिलाने के बहाने बुला लिया. जब वह बताई गई जगह पर पहुंचा तो लात, हाथ- मुक्का और लाठी से मार-मारकर युवक की हत्या कर दी. 

वारदात की जानकारी देते पुलिस अधिकारी

पुलिस के मुताबिक, हत्या के बाद आरोपी युवक के शव को उठाकर गुड़ा अंजनिया कॉलोनी पहाड़ के ऊपर ले गए और वहां पेड़ के नीचे पत्थरों से दबाकर छिपा आए. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें