scorecardresearch
 

आयकर विभाग ने 42 जगहों पर की छापेमारी, 62 करोड़ रुपये कैश जब्त

आयकर विभाग ने हवाला कारोबारियों पर छापे मारकर 62 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. संदिग्ध अवैध पैसा डेटा एंट्री ऑपरेटर संजय जैन और उनके सहयोगियों का है, जिनकी टैक्स चोरी और बेहिसाब धन की भूमिका के लिए जांच की जा रही है.

आयकर विभाग ने की छापेमारी (फाइल फोटो) आयकर विभाग ने की छापेमारी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हवाला कारोबारियों पर छापे मारकर 62 करोड़ रुपये की नकदी जब्त
  • संदिग्ध अवैध पैसा डेटा एंट्री ऑपरेटर संजय जैन और उनके सहयोगियों का
  • दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में छापेमारी

आयकर विभाग ने हवाला कारोबारियों पर छापे मारकर 62 करोड़ रुपये की नकदी जब्त की है. आयकर विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. संदिग्ध अवैध पैसा डेटा एंट्री ऑपरेटर संजय जैन और उनके सहयोगियों का है, जिनकी टैक्स चोरी और बेहिसाब धन की भूमिका में जांच की जा रही है.

62 करोड़ रुपये कैश दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में 42 जगहों पर छापेमारी में जब्त की गई. आयकर विभाग ने कहा कि इस दौरान हवाला रैकेट द्वारा कथित रूप से करीब 500 करोड़ रुपये के अवैध लेनदेन के संकेत मिले. उन्होंने कहा कि जिन परिसरों में छापे मारे गए, वहां 2000 रुपये और 500 रुपये के नोट छिपाकर रखे गए थे.

देखें: आजतक LIVE TV 

आईटी विभाग द्वारा ये जब्ती नोटबंदी के बाद सबसे बड़ी बरामदगी है. इस मामले में जांच एजेंसी द्वारा नकदी की कुल जब्ती अब 65 करोड़ रुपये के पार हो गई है. इससे पहले, आयकर विभाग ने डेटा एंट्री ऑपरेटरों पर दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में तलाशी में 5 करोड़ रुपये से अधिक की नकदी और आभूषण जब्त किए थे.

आयकर विभाग ने 26 अक्टूबर, 2020 को फर्जी बिलिंग और नकदी के सृजन का रैकेट चलाने वाले व्यक्तियों के एक बड़े नेटवर्क का खुलासा किया था. दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में 42 परिसरों में तलाशी अभियान चलाया गया था.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें