scorecardresearch
 

हैदराबाद: खुद की नहीं थी संतान, पति करता था भतीजे को प्यार, नाराज महिला ने मासूम को छत से फेंका

घटना चारमिनार के भवानीनगर थाना क्षेत्र की है.यहां 22 वर्षीय आयशा ने अपने तीन वर्षीय भतीजे नुआन को बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया. भतीजे को परिवार में सब लाड प्यार करते थे. इस बात से महिला नाराज थी. एकतरफ आयशा का खुद कोई बच्चा नहीं था. दूसरी तरफ उसके भतीजे को पति और परिवार से मिल रहे प्यार से वह परेशान थी.

मामला हैदराबाद के भवानीनगर थाने का है. (सांकेतिक तस्वीर) मामला हैदराबाद के भवानीनगर थाने का है. (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शादी के एक साल बाद नहीं थी कोई संतान
  • 22 वर्षीय आयशा ने ली भतीजे की जान
  • पुलिस ने आयशा को किया गिरफ्तार

तेलंगाना के हैदराबाद से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक महिला ने तीन साल के बच्चे के छत से नीचे फेंक दिया जिससे उसकी मौत हो गई है. महिला के ऐसा करने के पीछे की वजह और भी हैरान करने वाली है. बताया जा रहा है कि महिला का पति बच्चे को काफी प्यार करता था जिससे महिला नाराज थी. महिला और उसके पति की शादी को एक साल बीत गए हैं. दोनों की कोई संतान नहीं है. पति जिस बच्चे को लाड प्यार जताता था वो उसका भतीजा था. महिला इस बात से नाराज थी.

घटना चारमिनार के भवानीनगर थाना क्षेत्र की है.यहां 22 वर्षीय आयशा ने अपने तीन वर्षीय भतीजे नुआन को बिल्डिंग की दूसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया. भतीजे को परिवार में सब लाड प्यार करते थे. इस बात से महिला नाराज थी. एकतरफ आयशा का खुद कोई बच्चा नहीं था. दूसरी तरफ उसके भतीजे को पति और परिवार से मिल रहे प्यार से वह परेशान थी.

एक ही बिल्डिंग में मोहम्मद इतेशामुद्दीन (32) और शुजाउद्दीन (27) का परिवार रहता है. बड़े भाई को शादी के बाद एक बच्चा हुआ था जबकि छोटे भाई की शादी को एक साल बीते हैं और उनकी कोई संतान नहीं थी. मंगलवार को महिला ने बच्चे को पहले बांधा और फिर छत से नीचे फेंक दिया. बच्चे को काफी चोट आई जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर आरोपी आयशा को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच की जा रही है. इस घटना से परिवार में गम का माहौल है.

ये भी पढ़ें-

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें