scorecardresearch
 

जयपुरः बीमा के 1.90 करोड़ के लिए पति ने रची खौफनाक साजिश, हिस्ट्रीशीटर के साथ मिलकर ऐसे की पत्नी की हत्या

जयपुर में पुलिस ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है. दरअसल एक शातिर पति ने बीमा की 1.90 करोड़ रुपये की रकम हासिल करने के लिए अपनी ही पत्नी की हत्या कर दी. इसके लिए आरोपी महेशचंद ने एक खौफनाक प्लान बनाया. शातिर ने हिस्ट्रीशीटर को सुपारी देकर पत्नी की हत्या करवा दी.

X
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

राजस्थान की राजधानी जयपुर में बीमा के 1.90 करोड़ रुपये हासिल करने के लिए पति ने बेहद खौफनाक साजिश रच डाली. शातिर पति ने अपनी पत्नी को मंदिर भेजा, फिर रास्ते में उसकी हत्या करवा दी. इसके लिए आरोपी ने बाकयदा हिस्ट्रीशीटर को सुपारी दी थी. ये घटना 5 अक्टूबर को हुई थी, शुरुआती जांच में ये हादसा प्रतीत हुआ. लेकिन पुलिस ने अब चौंकाने वाला खुलासा किया है.

एजेंसी के मुताबिक आरोपी महेश चंद ने 5 अक्टूबर को अपनी पत्नी शालू को उसके चचेरे भाई राजू के साथ बाइक से मंदिर जाने के लिए कहा. पति के अनुरोध पर पत्नी मंदिर के लिए निकल गई. इसी दौरान सुबह करीब 4.45 बजे एक SUV ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी. हादसे में महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि उसके चचेरे भाई ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था. 

पुलिस ने बताया कि शुरुआती जांच के दौरान ऐसा प्रतीत हुआ कि यह सड़क हादसा है, लेकिन जब केस की बारीकी से जांच की गई तो चौंकाने वाला सच सामने आया. 

हिस्ट्रीशीटर को साढ़े 5 लाख दिया था एडवांस

डीसीपी पश्चिम वंदिता राणा ने बताया कि चांद ने 40 साल की अवधि के लिए शालू का बीमा करवाया था. बीमा कंपनी के नियमों के मुताबिक बीमा की राशि नेचुरल डेथ पर 1 करोड़ रुपये और दुर्घटना में मौत होने पर 1.90 करोड़ रुपये मिलनी थी. इसके लिए आरोपी महेश चंद ने शालू की हत्या का प्लान बनाया. इसके लिए उसने हिस्ट्रीशीटर मुकेश सिंह राठौर को सुपारी दी थी. पुलिस ने बताया कि मुकेश सिंह राठौर ने इस काम के लिए  10 लाख रुपये की मांग की थी. जबकि आरोपी महेशचंद ने उसे 5.5 लाख रुपये एडवांस के तौर पर दिए थे. 

2015 में हुई थी दोनों की शादी
 

जानकारी के मुताबिक महेशचंद और शालू की शादी 2015 में हुई थी. दोनों की एक बेटी भी है, लेकिन शादी के 2 साल बाद ही उनमें झगड़ा होने लगा. शालू अपने मायके में रहने लगी. पुलिस के मुताबिक शालू ने महेश पर 2019 में घरेलू हिंसा का मामला भी दर्ज कराया था. वहीं महेश ने हाल ही में शालू का बीमा करवाया था. 

पत्नी से कहा- बिना किसी को बताए मंदिर जाना होगा


पुलिस के मुताबिक महेश ने शालू से कहा था कि मैंने एक मन्नत मांगी है. इसे पूरा करने के लिए उसे बाइस से लगातार 11 दिन तक बिना किसी को बताए हनुमान मंदिर जाना होगा. उसने यह भी कहा कि एक बार उसकी इच्छा पूरी हो जाने पर वह उसे घर ले आएगा. इस पर वह मोटरसाइकिल से अपने चचेरे भाई के साथ मंदिर जाने लगी.

हादसे के बाद मौके से लौटा था शातिर महेश चंद


पुलिस ने कहा कि 5 अक्टूबर को जब शालू और राजू मंदिर जा रहे थे. तभी हिस्ट्रीशीटर ने तीन अन्य लोगों के साथ एक एसयूवी में उनका पीछा किया और उनकी बाइक को टक्कर मार दी. इतना ही नहीं आरोपी महेश उनके पीछे-पीछे जा रहा था, वह यह पुख्ता कर लेना चाहता था कि वारदात हुई है या नहीं. पुलिस ने बताया कि जब एसयूवी ने शालू की बाइक को टक्कर मारी तो वह हादसे की पुष्टि करने के बाद मौके से लौट आया. पुलिस ने मुकेश सिंह राठौर उसके दो अन्य साथी के साथ ही एसयूवी के मालिक राकेश सिंह और सोनू को भी गिरफ्तार कर लिया है. जबकि दो आरोपी अभी भी फरार हैं. 
 

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें