scorecardresearch
 

बंगालः हुगली में तृणमूल कांग्रेस नेता पर फायरिंग, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

तृणमूल नेता आदित्य नियोगी का इलाज कोलकाता के अपोलो अस्पताल में चल रहा है. गंभीर हालत में पहले उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी हालत नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने कोलकाता के लिए रेफर कर दिया.

हुगली में टीएमसी नेता पर फायरिंग की घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई (वीडियो ग्रैब) हुगली में टीएमसी नेता पर फायरिंग की घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई (वीडियो ग्रैब)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोटरसाइकिल से बाजार के लिए निकलने के दौरान हुई फायरिंग
  • टीएमसी नेता के शरीर से निकाली गई गोली, फिलहाल खतरे से बाहर
  • पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला कि आपसी गुटबाजी का नतीजा

बंगाल के हुगली के बांसबेड़िया नगरपालिका के वर्तमान प्रशासक मंडली के सदस्य और पूर्व वाइस चेयरमैन तथा सप्तग्राम विधानसभा के वरिष्ठ टीएमसी नेता आदित्य नियोगी को अज्ञात बादमाशों ने गोली मार दी. उन्हें तब गोली मारी गई जब वह अपनी मोटरसाइकिल पर सवार होकर बाजार के लिए निकले थे.

नियोगी के बाजार निकलने के दौरान कुछ अज्ञात बदमाशों ने उन पर पीछे से पीठ और कमर में गोली मार दी. हालांकि तृणमूल नेता द्वारा चीख पुकार करने पर भारी संख्या में स्थानीय लोग घटनास्थल पर आ पहुंचे जिसके कारण हमलावर अपने लक्ष्य से चूक गए.

गंभीर रूप से घायल TMC नेता के बारे में राज्य तृणमूल के उपाध्यक्ष और स्थानीय विधायक तपन दासगुप्ता ने बताया कि फिलहाल जख्मी तृणमूल नेता आदित्य नियोगी का इलाज कोलकाता के अपोलो अस्पताल में चल रहा है. मरीज के शरीर से गोली निकाल दी गई है. हालत स्थिर है और खतरे से बाहर हैं.

गंभीर हालत में पहले उन्हें स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी हालत नाजुक देखते हुए डॉक्टरों ने कोलकाता के लिए रेफर कर दिया. गोली लगने के बाद गंभीर रूप से जख्मी तृणमूल नेता आदित्य नियोगी दर्द की पीड़ा से कराहते हुए अपनी दास्तान बयां कर रहे थे.

इस घटना की खबर आग की तरह फैल गई. देखते ही देखते पूरे इलाके का माहौल तनावपूर्ण बन गया.

हुगली में TMC नेता को मारी गई गोली
हुगली में TMC नेता को मारी गई गोली

दूसरी ओर, बांसबेड़िया नगरपालिका के प्रशासक के घर में तोड़फोड़ की गई. फिलहाल अब तक यह पता नहीं लग पाया है कि गोली किसलिए मारी गई. पूरे इलाके में पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है. पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुटी हुई है. गोलीकांड की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों की पुलिस तलाश में जुटी है और सीसीटीवी फुटेज को खंगाल रही है.

हालांकि पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि यह टीएमसी के आपसी गुटबाजी का नतीजा है. घटना के बाद गुस्साए आदित्य नियोगी के समर्थकों ने बांसबेड़िया नगरपालिका के प्रशासक अरिजिता शील के पति सोना शील के घर में तोड़फोड़ और आगजनी भी की.

इसे भी पढ़ें --- बंगाल: ममता कैबिनेट ने ली शपथ, खुद के पास रखे सबसे अधिक विभाग, मनोज तिवारी बने मंत्री
 

'अभी कोई शिकायत नहीं मिली'

इस घटना के बारे में चंदन नगर कमिश्नरेट के नए सीपी अर्णब घोष ने बताया कि पुलिस की तरफ से मामले में गंभीरता से तहकीकात की जा रही है. चंदन नगर कमिश्नरेट के पुलिस अधिकारियों से इस घटना के सिलसिले में बातचीत करने के बाद यह पता चला है कि मामले में अभी तक किसी भी पक्ष के तरफ से कोई लिखित शिकायत दाखिल नहीं की गई है और ना ही फिलहाल इस केस के सिलसिले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. फिलहाल परिस्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है.

घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए हुगली जिला TMC के अध्यक्ष दिलीप यादव ने बताया कि उनके पार्टी के नेता को समाज विरोधियों ने गोली मारी है. तृणमूल के तरफ से पूरी पुलिस को किसी भी राजनीतिक रंग को ना देख कर समाज विरोधियों और इस गोलीकांड में शामिल अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की गुजारिश की गई है.

चंदन नगर कमिश्नरेट के नए सीपी अर्नब घोष ने मंगलवार को ही पदभार संभाला और पूर्व सीपी गौरव शर्मा ने सिलिगुड़ी पुलिस कमिश्नरेट के नए सीपी के रूप में कार्यभार ग्रहण किया. राजनीतिक हलकों में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि सीपी के तबादले के समय का फायदा उठाकर बदमाशों ने राजनीतिक संरक्षण में सुनियोजित तरीके से इस घटना को अंजाम देने की कोशिश की है. (इनपुट-भोला नाथ साहा)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें