scorecardresearch
 

किसान नेता राकेश टिकैत को मिली जान से मारने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा जान से मारने की धमकी दी गई. जिसके बाद थाना कौशाम्बी में इसकी शिकायत दर्ज कराई गई.

X
किसान नेता राकेश टिकैत (फोटो- PTI) किसान नेता राकेश टिकैत (फोटो- PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसान नेता राकेश टिकैत को मिली जान से मारने की धमकी
  • बिहार से आया धमकी भरा फोन कॉल
  • पुलिस ने केस दर्ज, जांच शुरू की

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है. इस बीच शनिवार (26 दिसंबर) को भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा जान से मारने की धमकी दी गई. जिसके बाद अर्जुन बालियान (सहायक, राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत) ने थाना कौशाम्बी में इसकी तहरीर दी. फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. 

किसान नेता राकेश टिकैत के मुताबिक, बिहार से एक फोन आया था, जिसमें कहा गया हथियारों की जरूरत है क्या? बताओ कितने हथियार भिजवाने हैं, तुम्हें मारने का प्लान है. हालांकि, हमने गाजियाबाद के कप्तान को तहरीर दी है. पुलिस जांच कर रही है.

वहीं, इंदिरापुराम सीओ के अनुसार, मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम का गठन कर दिया गया है. 

देखें- आजतक LIVE

बता दें कि राकेश टिकैत को जान से मारने की धमकी देने के मामले में पुलिस ने अपराध संख्या 635/ 2020, आईपीसी की धारा 507 के तहत केस दर्ज किया है. साथ ही सर्विलांस की टीम गठित कर कार्यवाही शुरू कर दी है.

मालूम हो कि नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसानों के आंदोलन का एक महीना पूरा हो गया है. आज किसान नेताओं की तरफ से ऐलान किया गया कि 30 दिसंबर को किसान ट्रैक्टर से सिंघु से लेकर टिकरी और शाहजहांपुर तक मार्च करेंगे. 

उधर, आज शाम को दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने सिंघु और टिकरी बॉर्डर पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था. उन्होंने सुरक्षा में तैनात दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवानों से बातचीत भी की. साथ ही बॉर्डर पर मौजूद अधिकारियों से भी बातचीत की और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर रिव्यू किया. 

 

ये भी पढ़ें:

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें