scorecardresearch
 

दिल्ली: मजबूरी बताकर यात्रियों को ठगने वाला गिरफ्तार, फ्लाइट छूटने के बहाने से मांगता था पैसे

पुलिस ने बताया कि सूत्रों की जानकारी और एयरपोर्ट पर लगे CCTV की सहायता से ऐसे एक व्यक्ति को ढूंढा गया जिसका एयरपोर्ट पर आना-जाना लगा रहता है. इस तरह ठगी करने वाला पकड़ में आ गया.

X
सांकेतिक तस्वीर. सांकेतिक तस्वीर.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ठगी के शिकार छात्र ने की थी शिकायत
  • आरोपी के खिलाफ पहले से दर्ज हैं मामले

अक्सर लोग किसी को मुश्किल में देखकर उसकी मदद करने के लिए दौड़े चले जाते हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लोगों की इस हमदर्दी का गलत फायदा उठा लेते हैं. ऐसे ही एक ठग को पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट गिरफ्तार किया है.

न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट में बताया गया है कि आरोपी युवक आंध्र प्रदेश का है. पुलिस के मुताबिक, वह यात्रियों से अपनी फ्लाइट छूटने का बहाना बनाकर रुपए ऐंठता था. शिकायत के बाद पुलिस ने सीसीटीवी में उसकी करतूतों को देखा जिसके बाद उसे दबोच लिया.

आरोपी की पहचान मोडेला वेंकटा दिनेश कुमार के रूप में हुई है. वह यात्रियों से खुद को किसी नामी यूनिवर्सिटी (reputed university)का छात्र बताता था. मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में रहने वाले छात्र ने आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी.

छात्र ने शिकायत में बताया था कि वह बड़ौदा से जब दिल्ली पहुंचा तो एयरपोर्ट पर उसके पास दिनेश कुमार आया. उसने खुद को एक नामी यूनिवर्सिटी का छात्र बताया. उसने कॉलेज का पहचान पत्र भी दिखाया. दिनेश ने कहा कि वह चंडीगढ़ से आया है और उसकी दिल्ली से विशाखापत्तनम जाने वाली फ्लाइट छूट गई है. 

ठग ने मांगे फ्लाइट के पैसे

दर्ज शिकायत में बताया गया कि दिनेश कुमार ने विशाखापत्तनम जाने वाली फ्लाइट के टिकट की कीमत 15 हजार रुपए बताई और कहा कि मेरे पास सिर्फ 6500 रुपए हैं. दिनेश ने बाकी के 9,250 चुकाने के लिए हाथ-पैर जोड़े और विशाखापत्तनम पहुंचते ही पैसे लौटाने का वादा भी किया. हमदर्दी का शिकार होकर शिकायत कर्ता ने गूगल पे के ज़रिए दिनेश को 9,250 दे दिए.

पुलिस ने आरोपी को एयरपोर्ट से दबोचा

कई बार मांगने के बाद भी रुपए न मिलने पर ठगे गए व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई और पुलिस तुरंत जांच में जुट गई. पुलिस कमिश्नर संजय त्यागी ने बताया कि सूत्रों की जानकारी और एयरपोर्ट पर लगे CCTV की सहायता से ऐसे एक व्यक्ति को ढूंढा जिसका एयरपोर्ट पर आना-जाना लगा रहता है. कमिश्नर ने कहा "30 दिसंबर को दिल्ली एयरपोर्ट के दूसरे टर्मिनल से आरोपी को तब पकड़ा गया जब वह किसी और यात्री को अपने जाल में फंसाने लगा था." 

जांच में पता चला है कि आरोपी सिर्फ एक ही एयरपोर्ट नहीं बल्कि अलग-अलग एयरपोर्ट पर जाकर लोगों को ठगता था. आरोपी खुद को नामी यूनिवर्सिटी का छात्र बताकर यात्रियों से हमदर्दी बटोरता था और जब वह उसके जाल में फंस जाते तो उनसे अपने खाते में पैसे भेजने को कहता था. जांच में आगे यह भी पता चला है कि आरोपी के खिलाफ पहले से 5 शिकायतें दर्ज हैं और ट्विटर पर भी दिनेश कुमार के खिलाफ कई लोगों ने शिकायत (complaints) की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें