scorecardresearch
 

दिल्ली गैंगवार: गोली मारने के बाद तड़प रहे शख्स की फोटो खींची, फिर फरार हुआ हत्यारा

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी पवन गहलोत को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी पवन गहलोत के भाई प्रवीण उर्फ गोलू की हत्या पिछले वर्ष मई महीने में हुई थी. पवन इस हत्या के लिए विकास मेहता को दोषी मानता था.

X
दिल्लीः द्वारका के मोहन गार्डन थाना क्षेत्र की वारदात दिल्लीः द्वारका के मोहन गार्डन थाना क्षेत्र की वारदात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली गैंगवार की रक्तरंजित कहानी
  • चार गोली मारने के बाद मृतक की तस्वीर खींची
  • सीसीटीवी की डरावनी तस्वीर आई सामने

दिल्ली के द्वारका जिले के मोहन गार्डन थाना इलाके में 22 अक्टूबर को दिनदहाड़े हुई एक शख्स की हत्या का सीसीटीवी फुटेज सामने आया है. इस सीसीटीवी फुटेज की तस्वीरें काफी डरावनी हैं. गैंगवार की वजह से अंजाम दिए गए इस कत्ल में आरोपी एक व्यक्ति के सामने जाकर उसे गोली मारता हुआ दिखाई दे रहा है. 

ऐसे में आरोपी ने दोबारा उसके सिर में और शरीर में तीन गोलियां मारीं. आरोपी बार-बार पीछे जाता फिर आगे आकर गोली मारता. आखिरकार घटनास्थल से भागते-भागते आरोपी ने अपनी जेब से मोबाइल निकालकर लहूलुहान स्थिति में विकास मेहता की फोटो खींची और फिर वहां से फरार हो गया.

पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी पवन गहलोत को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी पवन गहलोत के भाई प्रवीण उर्फ गोलू की हत्या पिछले वर्ष मई महीने में हुई थी. पवन इस हत्या के लिए विकास मेहता को दोषी मानता था. ऐसे में उसने अपने बेटे कमल के साथ मिलकर विकास की हत्या की योजना बनाई. पुलिस अब इस मामले में पवन के बेटे कमल की भी तलाश कर रही है.

देखें: आजतक LIVE TV 

वहीं पुलिस छानबीन में पता चला कि विकास उसी इलाके का रहने वाला था और प्रदीप सोलंकी गिरोह के लिए काम करता था. पिछले साल मई महीने में द्वारका मोड़ पर बीच सड़क पर हुए गैंगवार में पवन के भाई प्रवीण गहलोत उर्फ गोलू और विकास दलाल की हत्या हो गई थी.

पवन इस हत्या के लिए विकास मेहता को जिम्मेदार मानता था और बदला लेना चाहता था. इसके लिए पवन ने विकास को 22 अक्टूबर को विपिन गार्डन 55 फुटा रोड पर समझौता करने की बात कहकर बुलाया था. इसी दौरान पवन ने अपने बेटे को भी बुला लिया. पवन के बेटे ने अचानक विकास पर गोलियों की बौछार कर दी.

इसके बाद विकास मेहता वहां से जान बचाकर भागने लगा और एक गली में घुस गया लेकिन गोली लगी होने की वजह से वह ज्यादा दूर भाग नहीं सका और बीच गली में जमीन पर गिर गया. इसके बाद आरोपी ने उसे सिर और शरीर पर तीन गोलियां और मारीं. यही नहीं जाते हुए उसने अपने मोबाइल से विकास मेहता की फोटो भी खींची. फिलहाल आरोपी पवन गहलोत पुलिस की गिरफ्त में है और पुलिस मामले की जांच कर रही है. 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें