scorecardresearch
 

ग्रेटर नोएडा: दो पक्षों में खूनी संघर्ष, शादी से 10 दिन पहले बेटे की मौत, पिता की हालत गंभीर

बताया जा रहा है कि पहले दोनो पक्षों में कहासुनी हुई और फिर मामला इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ से पथराव हुआ और फायरिंग शुरू हो गई. देखते ही देखते यह विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया. 

घटना में एक शख्स की जान चली गई जबकि उसके पिता की हालत गंभीर है. घटना में एक शख्स की जान चली गई जबकि उसके पिता की हालत गंभीर है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गोली लगने से पिता की हालत गंभीर
  • शादी से 10 दिन पहले शख्स की मौत

उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के जेवर इलाके में दो पक्षों में हुए संघर्ष में एक युवक की जान चली गई. बताया जा रहा है कि पहले दोनो पक्षों में कहासुनी हुई और फिर मामला इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ से पथराव हुआ और फायरिंग शुरू हो गई. देखते ही देखते यह विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया. इस दौरान हुई फायरिंग में एक शख्स की गोली लगने से मौत हो गई. वहीं, उसके पिता भी गोली लगने से घायल हैं. बताया जा रहा है कि एक पक्ष ने दूसरे पक्ष की लड़कियों के साथ छेड़छाड़ की थी जिसे लेकर यह विवाद हुआ है. 

पुलिस के मुताबिक यह विवाद दो पक्षों के बीच हुआ. एक पक्ष ओमवीर और दूसरा पक्ष रामवीर थे. ओमवीर पक्ष द्वारा चलाई गई गोली रामवीर और उनके बेटे पंकज को लगी है. दोनों को उपचार के लिए ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां पर डाक्टरों ने पंकज को मृत घोषित कर दिया जबकि रामवीर की हालत नाजुक बनी हुई है. 

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि दूसरे पक्ष की तरफ से रोहित नाम के व्यक्ति को चोटें आई हैं. उसे भी उपचार के लिए कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जबकि इस उत्पात में दोनों पक्ष के आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए हैं. ग्रेटर नोएडा के डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि घटना के बाद गांव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. 

डीसीपी राजेश सिंह ने बताया कि इस मामले में ओमवीर और कई अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. पुलिस वारदात में शामिल आरोपियों की तलाश कर रही है. आसपास के इलाकों में दी गई दबिश के बाद कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है. 

गांव में हुई इस घटना का सबसे दर्दनाक पहलू यह है कि फायरिंग में मारे गए पंकज की 14 मई को शादी होनी थी जबकि इसी घर में उसकी बहन की शादी 9 मई को थी. अब इस घर में मातम पसरा हुआ है. पंकज और उनके पिता मंगलवार की शाम शादी के कार्ड रिश्तेदारों को देकर गांव वापस लौटे थे. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें