scorecardresearch
 

छत्तीसगढ़ : नूपुर शर्मा के पक्ष में पोस्ट लिखने पर युवक को जान से मारने की धमकी, FIR दर्ज

छत्तीसगढ़ के एक युवक को नूपुर शर्मा के पक्ष में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के कारण जान से मारने की धमकी मिली है. इस संबंध में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. 

X
नूपुर शर्मा फाइल फोटो नूपुर शर्मा फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोबाइल नंबर के आधार पर पकड़े गए आरोपी
  • 12 जून को नूपुर शर्मा के समर्थन में किया था पोस्ट

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक युवक ने भारतीय जनता पार्टी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पक्ष में इंस्टाग्राम पर पोस्ट करने के कारण जान से मारने की धमकी मिलने का आरोप लगाया है. पुलिस ने इस संबंध में एक महिला समेत दो संदिग्ध लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस अधीक्षक विश्वास चंद्राकर ने कहा कि आरोपियों की पहचान कुणाल सेंद्रे उर्फ ​​कासिफ (22) और रितिका भारती (20) के रूप में हुई है, दोनों राज्य की राजधानी रायपुर के गोले बाजार इलाके के निवासी हैं.

मोबाइल नंबर के आधार पर पकड़े गए आरोपी
उन्होंने कहा कि दुर्ग के एक कस्बे के निवासी राजा जगत द्वारा उपलब्ध कराए गए मोबाइल नंबरों के आधार पर आरोपियों का पता लगाया गया और उन्हें पकड़ लिया गया. जगत गोले बाजार इलाके के पास स्थित एक शॉपिंग मॉल में काम करता है.

12 जून को नूपुर शर्मा के समर्थन में किया था पोस्ट
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, आरोपी पुरुष और महिला ने इस्लाम और ईसाई धर्म अपना लिया था और दोनों एक दूसरे से प्यार करते हैं. जगत की ओर से शुक्रवार को दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार, उन्होंने 12 जून को शर्मा के समर्थन में अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर एक कमेंट पोस्ट किया था, जिसके बाद उन्हें दो अज्ञात व्यक्तियों से धमकी मिली. जिन्होंने कहा कि गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.

जगत के घर की सुरक्षा बढ़ाई गई
जगत ने रायपुर निवासी कासिफ के रूप में धमकी देने वाले एक व्यक्ति की पहचान की. अधिकारी ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 507 के तहत मामला दर्ज किया गया. चंद्राकर ने कहा कि एहतियात के तौर पर पुलिस कर्मी जगत के घर पर नजर रखे हुए हैं और इलाके में गश्त तेज कर दी गई है.

पिछले महीने भाजपा ने अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया था. पैगंबर के खिलाफ उनकी टिप्पणी को लेकर विवाद बढ़ गया था. उनके खिलाफ कई राज्यों में मामले दर्ज हैं.

गौरतलब है कि 28 जून को राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की दो लोगों ने हत्या कर दी थी. दक्षिणपंथी संगठनों ने शनिवार को हत्या के विरोध में छत्तीसगढ़ बंद का आह्वान किया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें