scorecardresearch
 

प्रेमिका को 'ऑनर किलिंग' से बचाने के लिए प्रेमी ने की आत्महत्या

प्रेम विवाह के प्रस्ताव पर प्रेमिका के घर वालों ने लड़के से कहा कि सारा मामला लड़की की वजह से है, लड़की नहीं रहेगी तो मामला भी नहीं रहेगा, इस बात पर प्रेमी ने प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि लड़की को कुछ नहीं होना चाहिए, इसलिए वो ही आत्महत्या कर लेता है.

X
मृतक विजय (फाइल फोटो) मृतक विजय (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दोनों लड़के-लड़की इंजीनियरिंग कॉलेज में मिले थे
  • लड़की के परिजनों ने छीन लिया था फोन
  • लड़का शादी का हाथ मांगने के लिए गया था घर

एक युवक ने अपनी प्रेमिका की जान बचाने के लिए आत्महत्या कर ली है. मामला तमिलनाडु राज्य के रामनाथपुरम का है जहां प्रेम विवाह के प्रस्ताव पर प्रेमिका के घर वालों ने लड़के से कहा कि सारा मामला लड़की की वजह से है, लड़की नहीं रहेगी तो मामला भी नहीं रहेगा, इस बात पर प्रेमी विजय ने प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि लड़की को कुछ नहीं होना चाहिए, इसलिए वो ही आत्महत्या कर लेता है. ऐसा कहते हुए पच्चीस साल के युवक ने आत्मदाह कर लड़की के घर आगे ही जान दे दी.

विजय इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान अपर्णा श्री नाम की लड़की से मिला था. यहीं पर दोनों में प्यार हुआ और रिलेशनशिप में आ गए. पढ़ाई पूरी हो जाने के बाद विजय की एक नौकरी लग गई, जिसके चलते उसे चेन्नई आना पड़ा.

विजय को उसके दोस्तों से पता चला कि अपर्णा के घर वालों को उनके रिश्ते के बारे में पता चल गया है और इसे तोड़ने के लिए उन्होंने अपर्णा का फोन छीन लिया है. ये बात को जानने के बाद विजय अपर्णा के घर एक रिश्तेदार को लेकर शादी की बात करने के लिए पहुँच गया. लेकिन अपर्णा के घर वाले शादी के लिए राजी नहीं हुए.

अयोध्या में एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या, 3 बच्चों की उम्र 10 साल से भी कम

इसके बाद विजय ने अपर्णा के घर वालों को एक हफ्ते का वक्त दिया और कहा कि वो दोबारा शादी की अनुमति लेने के लिए आएगा. इस बीच अपर्णा के घर वालों ने कराईकुडी महिला थाने में एक शिकायत भी दर्ज करवा दी. शनिवार के दिन विजय दोबारा अपर्णा के घर पहुंचा. शादी के लिए मना करते हुए अपर्णा के परिवारी जनों ने कथित तौर पर कहा कि सारा मामला खत्म हो जाएगा अगर अपर्णा मर जाए.

इसे सुनने के बाद विजय चौक गया. ऐसा बताया जा रहा है कि इसके बाद विजय पेट्रोल ले आया और अपर्णा के घर के सामने ही उसने खुद में आग लगा ली, ये कहते हुए कि अपर्णा को कुछ नहीं होना चाहिए. इससे अच्छा है कि वो अपनी जान दे दे.

विजय के शरीर में लगी आग को देखकर पड़ोसियों ने उसे बचाने की कोशिश की. उसकी आग बुझाई और पुलिस को सूचित कर दिया. जिसके बाद विजय को अस्पताल ले जाया गया और वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. कराईकुडी साउथ पुलिस स्टेशन में इस बाबत एक मामला दर्ज कर लिया गया है और इस मामले में पुलिस द्वारा जांच की जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें