scorecardresearch
 

बिहार: मायके ले जाने थे 500 रुपये, पति नहीं दे पाया, पत्नी ने लगा ली फांसी

बिहार में एक पत्नी ने सिर्फ इसलिए फांसी लगा ली, क्योंकि उसे अपने पति से 500 रुपये नहीं मिले. पत्नी को अपने मायके में वो 500 रुपये लेकर जाने थे. लेकिन पति वो देने में असमर्थ रहा, जिस वजह से पत्नी ने सीधे फांसी लगा अपनी जान ही दे दी.

500 रुपये के लिए पत्नी ने लगाई फांसी ( सांकेतिक फोटो) 500 रुपये के लिए पत्नी ने लगाई फांसी ( सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाई-पाई के लिए मोहताज रहता था ये परिवार
  • पैसों की तंगी को लेकर पहले भी हुई परेशानी

बिहार से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. एक पत्नी ने सिर्फ इसलिए फांसी लगा ली, क्योंकि उसे अपने पति से 500 रुपये नहीं मिले. ये घटना जमुई जिले के करमाटोला गांव की है. बताया गया है कि पत्नी को अपने मायके 500 रुपये लेकर जाने थे, लेकिन पति वो देने में असमर्थ रहा और पत्नी ने अपनी जान लेकर विरोध जता दिया.

जानकारी मिली है कि पत्नी चांदमुनी को आदिवासियों के सोहराय पर्व के लिए 500 रुपये चाहिए थे. उसने जब पति से वो रुपये मांगे, उसे वो नहीं दिए गए. इस बात पर दोनों पति-पत्नी में झगड़ा भी हो गया. लेकिन फिर संजय बेसरा (पति) ने अपनी पत्नी को आश्वासन दिया कि वो कही से रुपये का इंतजाम करता है. अब संजय ये बोलकर घर से बाहर जरूर गया. उसने पूरी कोशिश की कि कही से 500 रुपये का इंतजाम किया जाए. लेकिन जब वो वापस अपने घर पहुंचा उसकी पत्नी ने अपनी जान ले ली थी. उसने खुद को फांसी लगा ली थी.

स्थानीय लोगों का बताना है कि ये परिवार काफी गरीबी में जीने को मजबूर रहा है. दोनों पति-पत्नी मजदूरी कर अपना घर चलाते हैं. पहले भी इस घर में पैसों की काफी तंगी रही है. लेकिन अब मात्र 500 रुपये ने इस परिवार में मातम ला दिया है. पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटना के बारे में चकाई थानाध्यक्ष राजीव कुमार तिवारी का कहना है कि आगे की कार्रवाई अब परिजनों के बयान के आधार पर की जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×