scorecardresearch
 

बलिया में पत्रकार की हत्या, 6 आरोपी गिरफ्तार, प्रभारी निरीक्षक निलंबित

बलिया जनपद के फेफना थाना क्षेत्र में सोमवार शाम को पत्रकार रतन सिंह को बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी. इस मामले में 10 में से 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पत्रकार रतन सिंह (फाइल फोटो) पत्रकार रतन सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बलिया में पत्रकार रतन सिंह की हत्या
  • पुरानी रंजिश में पट्टीदारों ने की हत्या
  • अब तक10 में से 6 आरोपी गिरफ्तार

बलिया जनपद के फेफना थाना क्षेत्र में सोमवार शाम को पत्रकार रतन सिंह को बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी. देर शाम अपने मित्र के घर से लौट रहे पत्रकार की हत्या की साजिश में बदमाशों ने पत्रकार का पीछा किया. उसी दौरान जान बचाने के लिए पत्रकार ने गांव के प्रधान के घर मे जाकर जान बचाने की कोशिश की, पर बदमाशों ने दौड़ाकर गोली मार दी.

पत्रकार की घटना स्थल पर ही मौत हो गई. परिजनों का कहना है कि पुरानी रंजिश में घटना को अंजाम दिया गया हैं. इस मामले में 10 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी. घटना के बाद बलिया पुलिस ने फेफना के प्रभारी निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया है.

बलिया पुलिस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पत्रकार रतन सिंह की उनके पट्टीदारों ने लाठी-डंडे और गोली मारकर हत्या कर दी. इस मामले में नामजद 10 आरोपियों में से 6 को गिरफ्तार किया जा चुका है. घटना का कारण पिछले साल 26 दिसंबर को दोनों पक्षों में हुई मारपीट है.

पुलिस की माने तो इस मारपीट के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था. रतन सिंह पर दर्ज मुकदमा गलत पाया गया था. इसी में 5 अभियुक्तों पर रतन सिंह की हत्या का आरोप है. प्रभावी कार्यवाही न करने पर प्रभारी निरीक्षक फेफना को निलंबित कर दिया गया है.

मामले की गंभीरता को देखता हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया. साथ ही आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें