scorecardresearch
 

हरियाणा के मेवात में अवैध खनन रोकने गए DSP को माफिया ने डंपर से कुचला, मौके पर ही मौत

हरियाणा के नूह में खनन माफियाओं ने डीएसपी सुरेंद्र बिश्नोई पर गाड़ी चढ़ा दी. इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई. बताया जा रहा है कि छापे की कार्रवाई के दौरान उन्होंने एक ट्रक को रोकने की कोशिश की तो खनन माफियाओं ने उन पर डंपर चढ़ा दिया

X
डीएसपी सुरेंद्र कुमार (फाइल फोटो)
डीएसपी सुरेंद्र कुमार (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हरियाणा में अवैध खनन माफिया का दुस्साहस
  • पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी

हरियाणा में खनन माफियाओं का दुस्साहस एक बार फिर सामने आया है.जानकारी के मुताबिक नूह में खनन माफियाओं ने DSP पर गाड़ी चढ़ा दी. इससे डीएसपी सुरेंद्र बिश्नोई की मौके पर ही मौत हो गई.

बताया जा रहा है कि उप पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र बिश्नोई तावड़ू में तैनात थे. वह तावडू की पहाड़ी में अवैध माइनिंग की सूचना पर छापा मारने गए थे. कार्रवाई के दौरान डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई ने खननस्थल पर पत्थर से भरे ट्रक को रोकने की कोशिश की. तभी उन्हें टक्कर मार दी गई. टक्कर डंपर से मारी गई थी. इससे डीएपी की मौके पर ही मौत हो गई.

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए. पुलिस आरोपियों की तलाश में ताबड़तोड़ दबिश दे रही है. इस घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है. आईजी और नूह के एसपी मौके पर पहुंच गए हैं. घटना की जांच पड़ताल की जा रही है. 

बताया जा रहा है कि सुबह 11 बजे उन्हें खनन की जानकारी मिली थी. इसके बाद साढ़े 11 बजे अपने स्टाफ के साथ पहुंचे. जब पुलिस वहां पहुंची तो उन्हें देखकर खनन माफियाओं ने भागने का प्रयास किया. इसी दौरान डीएसपी को टक्कर मारी गई है. 

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगा. चाहे जितनी पुलिस लगानी पड़े, हम किसी को भी छोड़ेंगे नहीं. सख्त कार्रवाई की जाएगी.

घटनास्थल पर पहुंचे एसएचओ ने बताया कि डीएसपी सिर्फ स्टाफ के साथ गए थे. उनके साथ पुलिस फोर्स नहीं था. वहीं प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि डीएसपी अपने आधिकारिक वाहन के पास खड़े थे, उन्होंने लगभग 12:10 बजे अवैध खनन करने वाले एक वाहन को रुकने के लिए कहा तो डंपर चालक ने उन्हें रौंद दिया. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी चालक फरार हो गया. पुलिस ने ट्रक चालक को पकड़ने के लिए छापेमारी शुरू कर दी है.

हरियाणा में खनन माफियाओं के दुस्साहस का यह पहला मामला नहीं है. बल्कि इससे पहले भी इस तरह की वारदात सामने आ चुकी हैं. इससे पहले सोनीपत में अवैध खनन करने वाले गिरोह ने स्पेशल इनफोर्समेंट टीम पर जानलेवा हमला कर दिया था. इसमें सिपाही को पीट-पीटकर घायल कर दिया और एएसआइ की वर्दी फाड़ दी थी.

ये भी देखें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें