scorecardresearch
 

बांग्लादेशः दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखने वाला गिरफ्तार, परिजन बोले- वो मानसिक रूप से बीमार

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखने वाले इकबाल हुसैन को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के मुताबिक, इकबाल ने जानबूझकर कुरान रखी थी, जिससे हिंसा भड़क गई. वहीं, इकबाल के परिजनों का कहना है कि वो मानसिक रूप से बीमार है.

मुख्य आरोपी इकबाल हुसैन. मुख्य आरोपी इकबाल हुसैन.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इकबाल ने रखी थी दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान
  • भड़की हिंसा में 7 लोग मारे गए

बांग्लादेश के कोमिल्ला में दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखने वाले संदिग्ध को गुरुवार देर रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. संदिग्ध आरोपी का नाम इकबाल हुसैन है और सीसीटीवी फुटेज में उसे पूजा पंडाल में कुरान रखते देखा गया था. कोमिल्ला के एसपी फारूक अहमद ने बताया कि कोक्स बाजार में दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखने वाले इकबाल को गुरुवार रात 10 बजकर 10 मिनट पर गिरफ्तार कर लिया गया.

बुधवार को सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पुलिस ने मुख्य संदिग्ध के तौर पर इकबाल की पहचान की थी. वहीं, उसके परिवार का तर्क है कि इकबाल की मानसिक हालत ठीक नहीं है और हो सकता है कि किसी ने उसकी इस हालत का फायदा उठाते हुए कुरान रखने को कहा हो. 

इसी बीच एक नया सीसीटीवी फुटेज भी स्थानीय मीडिया में दिखाया जा रहा है, जिसमें इकबाल घटना वाली रात को दो लोगों के साथ मस्जिद में मीटिंग करता नजर आ रहा है. सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक, 12 अक्टूबर की रात 11 बजे हाफिज कुमायूं नाम का शख्स कुरान रखता दिख रहा है, जबकि इकबाल मस्जिद से बाहर आता नजर आ रहा है. 

सीसीटीवी फुटेज से हुई थी इकबाल की पहचान.

ये भी पढ़ें-- 'अल्पसंख्यकों का कोई देश नहीं', हिंदुओं के खिलाफ हिंसा पर क्या कह रहा है बांग्लादेशी मीडिया?

बुधवार को एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया था. इसके मुताबिक, रात 2 बजकर 12 मिनट पर इकबाल मस्जिद में गया और वहां से कुरान लेकर बाहर आ गया. उसके बाद इकबाल ने उस कुरान को ननुआरदिघी में बने एक दुर्गा पूजा पंडाल में स्थापित हनुमान की मूर्ति की गोद में रख दिया था. 

अगले दिन 13 अक्टूबर को पूजा पंडाल में स्थानीय लोगों को कुरान मिली और इसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वीडियो वायरल होने के बाद स्थिति बिगड़ गई और सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी. इसके बाद बांग्लादेश में जगह-जगह दुर्गा पूजा पंडालों और मंदिरों पर हमले शुरू हो गए. 

बांग्लादेश में इस घटना की वजह से फैली सांप्रदायिक हिंसा में 7 लोगों की मौत हो गई. हिंदुओं की दुकानों और घरों को आग के हवाले कर दिया. इस सिलसिले में कोमिल्ला पुलिस ने 4 मामले दर्ज किए हैं और 41 गिरफ्तारियां की हैं. गिरफ्तार किए गए लोगों में से 4 कथित तौर पर इकबाल हुसैन के सहयोगी हैं.

(इनपुटः शाहिदुल हसन )

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×