scorecardresearch
 

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह घिरे, 15 करोड़ की 'रिश्वत' के मामले में FIR

ये एफआईआर मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है. शिकायत करने वाले बिल्डर का आरोप है कि उनके खिलाफ दर्ज कुछ केस और शिकायतों का निपटारा करने के ऐवज में उनसे 15 करोड़ की डिमांड की गई थी. 

परमबीर सिंह (फाइल फोटो) परमबीर सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक बिल्डर की शिकायत पर परमबीर सिंह के खिलाफ FIR
  • FIR में 5 अन्य पुलिसकर्मी और दो आम नागरिकों के नाम
  • बिल्डर के केस हटाने के ऐवज में 15 करोड़ मांगने का आरोप

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. परमबीर के अलावा मुंबई पुलिस के अन्य पुलिस अधिकारियों का नाम भी एफआईआर में है. ये एफआईआर एक बिल्डर की शिकायत पर दर्ज हुई है जिसने 15 करोड़ की रिश्वत का आरोप लगाया है. 

ये एफआईआर मरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है. शिकायत करने वाले बिल्डर का आरोप है कि उनके खिलाफ दर्ज कुछ केस और शिकायतों का निपटारा करने के ऐवज में उनसे 15 करोड़ की डिमांड की गई थी. 

इस एफआईआर में मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के अलावा पांच अन्य पुलिसकर्मी और दो आम नागरिक के नाम शामिल हैं. यानी कुल 8 लोगों के नाम ये एफआईआर हुई है. जिन पुलिसकर्मियों के नाम एफआईआर में हैं, उनमें से एक मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट में डीसीपी हैं. जबकि अन्य पुलिसकर्मी क्राइम ब्रांच की अलग-अल यूनिट्स में इंस्पेक्टर रैंक पर तैनात हैं. 

इस मामले में जिन दो नागरिकों के नाम हैं, उन दोनों को ही गिरफ्तार किया जा चुका है. जबकि किसी भी पुलिसकर्मी की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

मुंबई पुलिस ने सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा  387,388,389,403,409,420,423,464,465,467,468,471,120 (b),166,167,177,181,182,193,195,203,211,209,210,347,109,110,111,113 के तहत केस दर्ज किया है. 

गौरतलब है कि पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने खुद पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली का गंभीर इल्जाम लगाया था. उनके इस आरोप के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया था, यहां तक कि अनिल देशमुख को महाराष्ट्र के गृहमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. इस पूरे विवाद में परमबीर सिंह को भी अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी थी. अब परमबीर सिंह के खिलाफ ही एक बिल्डर के खिलाफ दर्ज केस और शिकायतें निपटाने का आरोप में 15 करोड़ी डिमांड के गंभीर आरोप लगे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें