scorecardresearch
 

अवैध संबंध के आरोप में गांव वालों ने जोड़े को बनाया बंधक, नहीं छुड़ा पाई पुलिस

साहेबगंज, दुमका, पाकुड़ और अन्य संथाल परगना जिले में लगातार ऐसी घटनाएं हो रही हैं जहां भीड़ ही इंसाफ करने पर उतर आती है. इस दौरान लोग कानून हाथ में लेने से भी नहीं डरते हैं.

प्रेमी जोड़े को बनाया बंधक प्रेमी जोड़े को बनाया बंधक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अवैध संबंध के आरोप में प्रेमी जोड़े को बनाया बंधक
  • भीड़ से प्रेमी जोड़े को नहीं छुड़ा पाई पुलिस

झारखंड के पाकुड़ में अवैध संबंध के आरोप में ग्रामीणों ने दो लोगों को बंधक बना लिया. महेशपुर थाना अंतर्गत परियारदाहा गांव में 26 वर्षीय शादीशुदा आदिवासी महिला को गांव वालों ने उसके प्रेमी के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया था. इसके बाद पंचायत ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए उन्हें बंधक बनाकर पेड़ से बांध दिया.

साहेबगंज, दुमका, पाकुड़ और अन्य संथाल परगना जिले में लगातार ऐसी घटनाएं हो रही है जहां भीड़ ही इंसाफ करने पर उतर आती है. इस दौरान लोग कानून हाथ में लेने से भी नहीं डरते हैं.

स्थानीय लोगों ने बताया कि ग्रामीणों ने चार साल के बच्चे की मां टेरेसा हसदा को उसके प्रेमी मसलेउद्दीन अंसारी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया. आरोपी प्रेमी तीन बच्चों का पिता है और पड़ोस के बालीदंगल गांव का रहने वाला है. 

इसके बाद गांव वालों ने उन दोनों को एक पेड़ से बांध दिया. प्रेमी जोड़ा किसी तरह भाग ना जाए इसलिए कुछ ग्रामीण पेड़ पर चढ़कर उन पर नजर रखने लगे. प्रेमी जोड़े को छुड़ाने पुलिस भी मौके पर पहुंची लेकिन गांव वालों के भारी विरोध को देखते हुए पुलिस भी कुछ नहीं कर सकी.

वीडियो में साफ तौर पर नजर आ रहा है कि पुलिस भी मौके पर मौजूद है लेकिन गांव वालों की भारी संख्या की वजह से मजबूर है. जोड़े को कैद से छुड़ाने की उनकी सभी कोशिशों पर पानी फिर गया.

वहीं इस मामले को लेकर पाकुड़ के एसपी मणिलाल मंडल ने कहा कि किसी को भी कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है. हम मामले में जांच कर रहे हैं. खबर लिखे जाने तक प्रेमी जोड़ा ग्रामीणों के पास ही बंधक थे. हालांकि सूत्रों ने कहा है कि उन्हें ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाने के लिए पुलिस ने अतिरिक्त फोर्स को वहां बुलाने की योजना बनाई है.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें