scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

मुख्तार अंसारी की व्हीलचेयर वाली बीमारी की खुली पोल! एंबुलेंस से उतरकर चलने की आई तस्वीर

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 1/6

पिछले काफी समय से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी चर्चा में है. पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा जेल पहुंचे मुख्तार अंसारी की एक बड़ी ही दिलचस्प तस्वीर सामने आई है. अकसर व्हीलचेयर पर नजर आने वाला मुख्तार अंसारी इस तस्वीर में पैदल चलता नजर आ रहा है. 

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 2/6

दरअसल, ये तस्वीर उस समय की है जब वह पुलिस का काफिला कानपुर पहुंचा था. मुख्तार कानपुर के सती थाने में करीब 10-12 कदम चलकर SO के चेंबर के टॉयलेट में गया था. इस दौरान करीब 6 मिनट तक एंबुलेंस वहां रुकी थी.

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 3/6

मुख्तार अंसारी की पैदल चलते हुए तस्वीर चर्चा का विषय बनी हुई है. पंजाब की रोपड़ जेल से निकलने के बाद करीब 900 किलोमीटर का सफर लगभग 16 घंटे में तय करते हुए मुख्तार अंसारी को बुधवार तड़के 4.30 बजे बांदा जेल पहुंचा दिया गया. इस दौरान जेल आने से एक घंटे पहले पूरी रोड पर कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे. 

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 4/6

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुख्तार अंसारी को पंजाब की जेल से अब यूपी की बांदा जेल लाया गया. यूपी पुलिस की टीम मुख्तार को लेकर मंगलवार रोपड़ से रवाना हुई, जो बुधवार तड़के बांदा जेल पहुंची है.

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 5/6

हालांकि उत्तर प्रदेश आने के बाद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. अब उत्तर प्रदेश सरकार मुख्तार की विधानसभा सदस्यता खत्म करवाने को लेकर विधिक राय ले सकती है. मुख्तार अंसारी पर प्रदेश में 52 मुकदमे दर्ज हैं, जिसमें 15 ट्रायल स्टेज पर हैं. मुख्तार पर बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कराने का भी आरोप लगा था. 

अचानक पैरों पर चलने लगा मुख्तार अंसारी
  • 6/6

इस मामले की जांच सीबीआई ने की थी, लेकिन गवाहों के मुकर जाने के लिए मुख्तार अंसारी इस केस में बरी हो गया है. सुप्रीम कोर्ट में लंबी कानूनी लड़ाई लड़ने के बाद यूपी पुलिस मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल से वापस लाई है. रंगदारी के केस में 27 महीने से मुख्तार अंसारी रोपड़ जेल में बंद था और अपने स्वास्थ्य का हवाला देकर वह यूपी नहीं आना चाहता था.