scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

नासा के कैमरे में कैद हुई वारदात, यह सुनते ही हत्यारों ने तुरंत गुनाह कर लिया कुबूल

murder
  • 1/5

किसी भी गुनाह के बाद अपराधी को लगता है कि वो सबसे ज्यादा बुद्धिमान है और आसानी से पुलिस को चकमा देकर बचकर निकल जाएगा. कुछ ऐसा ही हुआ राजधानी दिल्ली में जहां कातिल तो सामने थे लेकिन दिल्ली पुलिस को उनके खिलाफ कोई मजबूत सबूत हाथ नहीं लग रहा था. दोनों एक के बाद एक झूठ बोलकर जांच को भटका रहे थे, ऐसे में दिल्ली पुलिस ने ऐसा दांव चला कि उनकी सारी बुद्धिमानी धरी रह गई और हत्याकांड के दोनों आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया. पुलिस ने उसी आधार पर 35 साल के एक शख्स की हत्या का केस सुलझा लिया.

murder
  • 2/5

दरअसल 5 अप्रैल को दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके के पार्क में एक शख्स की डेड बॉडी पड़ी होने की सूचना पुलिस को मिली. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो देखा कि मृतक के चेहरे को बुरी तरह से कुचल दिया गया था. पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस ने आस पास के लोगों से पूछताछ की लेकिन हत्याकांड का कोई चश्मदीद पुलिस को नहीं मिला.

murder
  • 3/5

पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की तो मृतक की पहचान चंद्रभान उर्फ चंदा के तौर पर हुई जो मंगोलपुरी इलाके में ही रहता था. जहां चंद्रभान की हत्या हुई थी वहां कोई सीसीटीवी नहीं था लिहाजा मुखबिरों की मदद ली गई और टेक्निकल सर्विलांस के सहारे पुलिस को पता चला कि मृतक आखिरी बार 2 बाइक सवार लोगों के साथ देखा गया था.
 

murder
  • 4/5

पुलिस ने मोटरसाइकिल सवारों की तलाश शुरू की लेकिन  कामयाबी नहीं मिली, पुलिस ने कई संदिग्धों को बुलाकर पूछताछ की और आखिरी में पुलिस ने 2 संदिग्धों प्रदीप और राजू को पकड़ा जिनपर उन्हें शक था. पुलिस लगातार प्रदीप और राजू से पूछताछ कर रही थी क्योंकि वारदात के वक्त दोनों की लोकेशन हत्याकांड वाली जगह की मिल रही थी. दोनों पुलिस को बार-बार पूछताछ में गुमराह कर रहे थे और कोई सबूत नहीं होने की वजह से पुलिस ने दोनों को छोड़ दिया.

murder
  • 5/5

पुलिस ने प्रदीप और राजू के बारे तमाम जानकारी जुटाई, जो इनपुट्स थे उनको क्रॉस चेक किया जिसमें पाया गया कि इन दोनों का हत्याकांड में रोल है. लिहाजा एक बार फिर दिल्ली पुलिस ने  प्रदीप और राजू को पकड़ा और एक चाल चली. दिल्ली पुलिस ने  प्रदीप और राजू से एक झूठ बोला कि तुम दोनों जहां आखिरी बार मृतक चंद्रभान से मिले थे वो इलाका नासा के सैटेलाइट कैमरे से सर्विलांस किया जाता है जिसमें तुम दोनों बाइक पर सवार थे और मृतक के साथ मौजूद दिखे थे. यह सुनने के बाद उन्हें यकीन हो गया कि पुलिस को सब पता चला गया है और वो टूट गए. दोनों ने गुनाह कबूलते हुए खुलासा किया कि शराब पीने के बाद झगड़ा हुआ था जिसके बाद दोनों ने मिलकर चंद्रभान की हत्या कर दी और चेहरे को पत्थर से कुचल दिया.