scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

झूठी शान और जमीन पर कब्जे के लिए सगे भाई ने बहन को मार दी 9 गोलियां

murder
  • 1/5

पंजाब के होशियारपुर में पुलिस ने हत्या की एक ऐसी गुत्थी सुलझाई है जिसे जानकर आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे की आखिरकार किस पर भरोसा किया जाए. रिश्ते का शर्मसार कर भाई ने ही दोस्त के साथ मिलकर अपनी बहन की हत्या कर दी.

murder
  • 2/5

दरअसल, 22 अप्रैल को होशियारपुर के सीकरी में 9 गोलियां मारकर मनप्रीत नाम की युवती की हत्या कर दी गई थी. इस हत्याकांड ने पूरे इलाके में सनसनी फैला दी थी. इस सनसनीखेज कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए जिला पुलिस ने मृतक मनप्रीत कौर के छोटे भाई और उसके एक दोस्त को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने घटना को अंजाम देने में इस्तेमाल किए गए बंदूक और 3 गाड़ियों को भी बरामद कर लिया है.

murder
  • 3/5

स्थानीय पुलिस लाइन में इस हत्याकांड की जानकारी देते हुए एसएसपी नवजोत सिंह माहल ने बताया कि खडियाला सैनियां निवासी मनप्रीत कौर की हत्या के दोष में उसके छोटे भाई हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी और उसके दोस्त इकबाल सिंह को गिरफ्तार किया गया है.

murder
  • 4/5

पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि मनप्रीत कौर ने करीब 8 साल पहले परिवार की मर्जी के खिलाफ जाकर होशियारपुर के खडियाला गांव के रहने वाले पवनदीप सिंह से शादी कर ली थी. विवाह के बाद घरवाले के साथ अनबन के कारण उसका अदालत में तलाक का केस चल रहा था. एसएसपी नवजोत सिंह ने बताया कि मनप्रीत कौर दोबारा अपने मायके जाना चाहती थी लेकिन उसका भाई हरप्रीत सिंह को यह मंजूर नहीं था, बदनामी और बहन के हिस्से की जमीन पर कब्जे की नियत से भाई ने अपनी ही बहन की हत्या की साजिश रच दी.

murder
  • 5/5

अधिकारी ने कहा कि कत्ल से एक दिन पहले दोषियों की ओर से इनोवा गाड़ी में हत्या की रेकी भी की गई और अगले दिन वे दूसरी गाड़ी में वहां पहुंचे. उन्होंने बताया कि इकबाल सिंह गाड़ी चला रहा था और मनप्रीत का भाई गाड़ी के पीछे वाली सीट पर छिपा हुआ था. दोनों ने आते समय एक राहगीर से मोबाइल फोन भी छीन लिया था, जिससे इकबाल ने मनप्रीत को व्हाट्स ऐप कॉल किया ताकि उसे ट्रेस न किया जा सके.जब मनप्रीत मेन रोड पर पहुंची तो इकबाल ने उसे कोई जरूरी बात करने का बहाना किया और पिछली सीट पर बैठने के लिए कहा जहां हरप्रीत ने मनप्रीत का साफे से गला घोंट दिया. इससे वो बेहोश हो गई. पुलिस के मुताबि,क इसके बाद आगे ले जाकर सीकरी गांव के नजदीक मनप्रीत ने उसे बाहर ले जाकर  32 बोर के रिवॉल्वर से 9 गोलियां मारी जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई.