scorecardresearch
 

ऑनलाइन फ्रॉड से निपटेगा यूपी का ये कॉल सेंटर, पुलिस ने दी जानकारी

पिछले कुछ सालों से लगातार ऑनलाइन लेन-देन में बढ़ोतरी हो रही है. फिर चाहे वह एक से दूसरे शख्स को पैसा भेजना हो या फिर कहीं खरीदारी करनी हो, लोग कैश रखने के बजाए ऑनलाइन पेमेंट करना काफी पसंद कर रहे हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी पुलिस ने स्थापित किया कॉल सेंटर
  • ऑनलाइन वित्तीय फ्रॉड के चलते कॉल सेंटर स्थापित

पिछले कुछ सालों से लगातार ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में बढ़ोतरी हो रही है. फिर चाहे वह एक से दूसरे शख्स को पैसा भेजना हो या फिर कहीं खरीदारी करनी हो, लोग कैश रखने के बजाए ऑनलाइन पेमेंट करना काफी पसंद कर रहे हैं. हालांकि, इसके अपने खतरे भी हैं. ऑनलाइन ट्रांजेक्शंस के बढ़ने की वजह से ऑनलाइन फ्रॉड की भी घटनाएं बढ़ गई हैं. इससे निपटने के लिए यूपी पुलिस ने अहम कदम उठाया है.

यूपी पुलिस ने साइबर फाइनेंशियल फ्रॉड को लेकर एक कॉल सेंटर स्थापित किया है. यह डेडिकेटड कॉल सेंटर यूपी 112 पर सेट किया गया है. उत्तर प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल ने इस बारे में जानकारी दी.  

उन्होंने बताया, ''साइबर वित्तीय धोखाधड़ी दिन-ब-दिन तेजी से बढ़ रही है. मुझे सभी को यह बताते हुए खुशी हो रही है कि इस खतरे से निपटने के लिए हमने खुद को पर्याप्त रूप से तैयार किया है और यूपी 112 में एक समर्पित कॉल सेंटर स्थापित किया है जिसे राष्ट्रीय साइबर वित्तीय अपराध के साथ एकीकृत किया गया है.''

बता दें कि मुकुल गोयल जून के आखिरी में उत्तर प्रदेश के डीजीपी बने थे. उन्होंने पूर्व डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी की जगह ली थी. 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी मुकुल गोयल इससे पहले बीएसएफ में एडीजी पद चंडीगढ़ में तैनात थे. उन्हें एक तेज-तर्रार पुलिस अधिकारी के रूप में माना जाता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×