scorecardresearch
 

टीचर ने बनाई छात्राओं की अश्लील क्लिप, व्हाट्सएप पर हुई वायरल

'हमने पांच दिन से रोटी नहीं खाई है. हमारे घर वाले हमें जीने नहीं दे रहे. मेरी मम्मी अनपढ़ हैं. घरवाले पूछ रहे हैं आपकी ये फोटो कैसे आई. वे अब हमें स्कूल नही जाने दे रहे हैं. हमें पढाई बीच में ही छोड़नी पड़ रही है. हम स्कूल जाने के लायक भी नहीं रहे.' जी हां, ये दर्द है उन छात्राओं को जिनकी अश्लील फोटो बनाकर सोशल नेटवर्किंग साइट पर वायरल की गई है.

टीचर ने अश्लील वीडियो बनाकर सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपलोड कर दिया गया. टीचर ने अश्लील वीडियो बनाकर सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपलोड कर दिया गया.

'हमने पांच दिन से रोटी नहीं खाई है. हमारे घर वाले हमें जीने नहीं दे रहे. मेरी मम्मी अनपढ़ हैं. घरवाले पूछ रहे हैं आपकी ये फोटो कैसे आई. वे अब हमें स्कूल नही जाने दे रहे हैं. हमें पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ रही है. हम स्कूल जाने के लायक भी नहीं रहे.' जी हां, ये दर्द है उन छात्राओं को जिनकी अश्लील फोटो बनाकर सोशल नेटवर्किंग साइट पर वायरल की गई है.
 
राजस्थान के चूरू के सिद्धमुख थाना क्षेत्र के घणांउ गांव की राजकीय हायर सेकेंडरी स्कूल के 10-12 छात्राओं की 10वीं परीक्षा के फार्म के लिए दी गई फोटो को एडिट कर अश्लील वीडियो बनाया गया और उसे सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक और व्हाट्सएप पर अपलोड कर दिया गया. अश्लील वीडियो जब वायरल हो गया, तब जाकर मामले का खुलासा हुआ.

परिजनों ने छुड़ाया छात्राओं का स्कूल
अश्लील वीडियो से शर्मिंदा हुए छात्राओं के परिजनों ने पहले उनकी पढ़ाई छुड़ा दी, फिर सिद्धमुख थाने में केस दर्ज करवाया. पुलिस की छानबीन में चौंकाना वाला खुलासा हुआ. यह वीडियो किसी और ने नहीं बल्कि स्कूल के ही एक टीचर सुमेर जांगिड और गांव के एक युवक सुमेर प्रजापत ने बनाया था. केस दर्ज होने के बाद से दोनों आरोपी फरार हैं.

डीवाईएसपी को सौंपी मामले की जांच
एसएसपी राहुल बारहट के मुताबिक, राजकीय हायर सेकेंडरी स्कूल के टीचर और गांव के युवक ने सभी छात्राओं की फोटो फॉर्म से निकाल ली. फिर उसे एडिट करके अश्लील वीडियो क्लिप तैयार की. उसके बाद उसे सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपलोड कर दिया. पीड़ित छात्राओं के परिजनों की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया है. सादुलपुर डीवाईएसपी को मामले की जांच सौंपी गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें