scorecardresearch
 

ATM मशीन में फेवीक्विक पैसे उड़ाने वाले गिरोह का पर्दाफाश

पुलिस ने एटीएम के कैंसिल बटन को फेवी क्विक से जाम कर दूसरों के खाते से रुपये लिकालने वाले गिरोह के सरगना सहित 6 जालसाजों को गिरफ्तार किया. गिरोह का पदार्फाश करते हुए पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया. इन जालसाजों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया. पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया.

पुलिस ने एटीएम के कैंसिल बटन को फेवी क्विक से जाम कर दूसरों के खाते से रुपये लिकालने वाले गिरोह के सरगना सहित 6 जालसाजों को गिरफ्तार किया. गिरोह का पदार्फाश करते हुए पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया. इन जालसाजों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस ने बताया कि पकड़े गए बदमाश गार्ड रहित एटीएम मशीन के कैंसिल बटन में फेवी क्विक डालकर उसे जाम कर देते थे. लोग ट्रांजेक्शन करने के बाद कैंसिल बटन दबाकर निकल जाते थे, लेकिन बटन जाम होने के कारण प्रोसेस कैंसिल नहीं हो पाता था. जालसाज तुरंत उस अकाउंट से पैसे की निकासी कर लेते थे. ये मशीन को हैंग करके भी रुपये निकाल लेते थे.

जालसाजों ने पिछले दिनों भदोही में यूको बैंक और 21 अगस्त को ज्ञानपुर के एसबीआई समेत कई अन्य क्षेत्रों के बैंकों के एटीएम से पैसा उड़ाने की बात कबूल की है. गिरोह का मास्टरमाइंड प्रदीप कुमार हरिजन ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के गोपीपुर का निवासी है. उसके पिता रघुनाथ ने बरामद रकम को अपनी कमाई बताया, लेकिन बाद में अपने बेटे का अपराध कबूल लिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें