scorecardresearch
 

जानिए, अनसुलझे सवालों से सनी शीना और इंद्राणी के रिश्तों की कहानी

शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी सहित तीनों आरोपियों की मुंबई के बांद्रा कोर्ट में सोमवार को पेशी हुई. इसके बाद कोर्ट ने तीनों की पुलिस रिमांड बढ़ाते हुए 5 सितंबर तक कर दी है. इंद्राणी के पति पीटर मुखर्जी ने इस केस से दूरी बना ली है. वह कानूनी लड़ाई में इंद्राणी का साथ नहीं देंगे. शीना बोरा हत्याकांड की कहानी मैट्रिक्स की तरह उलझती जा रही है. रिश्तों का तार-तार करने देने वाली यह कहानी 1988 में शुरू होती है, जिसकी परिणति इंद्राणी की गिरफ्तारी के साथ होती है. इस केस में अभी कई राज खुलने हैं.

X
शीना हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी सहित तीनों आरोपियों की पुलिस रिमांड बढ़ी. शीना हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी सहित तीनों आरोपियों की पुलिस रिमांड बढ़ी.

शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी सहित तीनों आरोपियों की मुंबई के बांद्रा कोर्ट में सोमवार को पेशी हुई. इसके बाद कोर्ट ने तीनों की पुलिस रिमांड बढ़ाते हुए 5 सितंबर तक कर दी है. इंद्राणी के पति पीटर मुखर्जी ने इस केस से दूरी बना ली है. वह कानूनी लड़ाई में इंद्राणी का साथ नहीं देंगे. शीना बोरा हत्याकांड की कहानी मैट्रिक्स की तरह उलझती जा रही है. रिश्तों का तार-तार करने देने वाली यह कहानी 1988 में शुरू होती है, जिसकी परिणति इंद्राणी की गिरफ्तारी के साथ होती है. इस केस में अभी कई राज खुलने हैं.

हम क्या जानते हैं?
*- गुवाहाटी में उपेन बोरा और दुर्गा रानी बोरा के घर परी बोरा का जन्म हुआ था. 1988 में महज 15 साल की उम्र में वह अपने बॉयफ्रेंड के साथ शिलॉन्ग भाग गई. वहीं उसकी मुलाकात स्टील प्लांट के एग्जिक्यूटिव सिद्धार्थ दास से हुई.
*- नाबालिग होने की वजह से उसकी शादी सिद्धार्थ दास से नहीं हो पाई. लेकिन दोनों लिव-इन में रहने लगे. वहां परी को 17 साल की उम्र में एक बच्ची और 18 साल की उम्र में एक बेटा पैदा हुआ. बेटी शीना और मिखाइल के साथ वह 1990 में घर लौटी आई.
*- उसके पिता उपेल बोरा ने गुवाहाटी में उसे एक रेस्टोरेंट खोलने में मदद की, लेकिन रेस्टोरेंट चल नहीं पाया. उसके बाद वह अपने बच्चों को वहीं छोड़कर शीलॉन्ग चली गई, फिर वहां से कोलकाता.
*-कोलकाता में वह संजीव खन्ना के साथ रहने लगी. वहां उसने एक बेटी को जन्म दिया. इसका नाम विधि रखा.
*- मुंबई में उसे एचआर मैनेजर की नौकरी मिल गई. उसके बाद उसने 2001 में खन्ना का घर छोड़ दिया. उसने अपना एचआर फर्म शुरू कर दिया.


पीटर से मुलाकात के बाद सुर्खियों में आई

*- परी बोरा 2002 में तब सुर्खियों में आई, जब वह इंद्राणी मुखर्जी बन चुकी थी. उस वक्त वह स्टार इंडिया के तत्कालीन सीईओ प्रतिम उर्फ पीटर मुखर्जी के साथ डेट कर रही थी. पीटर उस वक्त 46 साल के थे. दोनों ने बाद में शादी कर ली.
*- इंद्राणी के बच्चों ने जब उसकी शादी की खबर सुनी तो उन्होंने उससे संपर्क किया. वह उनसे मिलने गुवाहाटी गई. वहां उसने अपने बच्चों को समझाया कि वह उनकी मदद करने के लिए तैयार है, यदि वे उसके भाई-बहन की तरह उसकी नई जिन्दगी में रहेंगे. बच्चे तैयार हो गए, क्योंकि उन्हें उस वक्त पैसे की सख्त जरूरत थी. उसने वहां से शीना का बर्थ सर्टिफिकेट ले लिया, जिसमें उसके माता-पिता के रूप में उपेन और दुर्गा बोरा का नाम दर्ज था.
*- 2006 में शीना ने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में एडमिशन लिया. उस वक्त वह पीटर और इंद्राणी के साथ उनके घर में रहने लगी. वहां इंद्राणी ने उसे अपनी बहन बताया था. इसके बाद शीना अपने कॉलेज के पास ही एक फ्लैट में रहने चली गई थी.
*- इंद्राणी मिखाइल को हर महीने 50 हजार रुपये उसके खर्च और माता-पिता की देखभाल के लिए भेजती थी.


शीना और राहुल के बीच पनपा प्यार

*- इसी बीच पीटर के बेटे राहुल और शीना के बीच प्यार हो गया. इस रिश्ते से इंद्राणी बहुत नाराज थी. लेकिन पीटर को कोई समस्या नहीं थी.
*- 2007 में पीटर ने स्टार इंडिया छोड़ दिया. उसने खुद की कंपनी INX मीडिया खोल ली. इसमें इंद्राणी को सीईओ बनाया.
*- 2009 में पीटर और इंद्राणी ने INX मीडिया बेच दिया और ब्रिटेन शिफ्ट हो गए.
*- राहुल के बेहद करीब आ चुकी शीना ने उसे सारा राज बता दिया. राहुल ने जब ये बात पीटर को बताई तो वह पहले नाराज हुए, लेकिन बाद उन्होंने इस सच को स्वीकार लिया और अपनी जिंदगी जीने लगे.
*- शीना और राहुल बांद्रा के एक फ्लैट में रहने लगे. इसी बीच शीना को मुंबई मेट्रो में नौकरी मिल गई. उसके बाद दोनों मलाड शिफ्ट हो गए.
*- इंद्राणी को शीना और राहुल का यह रिश्ता कत्तई मंजूर नहीं था. इससे वह नाराज रहने लगी.


इंद्राणी ने शीना की हत्या का बनाया प्लान

*- इंद्राणी ने शीना को मारने का प्लान बना लिया. इसके लिए उसने धोखे से अपने बेटे मिखाइल और पूर्व पति संजीव खन्ना को मुंबई बुलाया.
*- 23 अप्रैल, 2012 को संजीव खन्ना और मिखाइल मुंबई आए. वहां फ्लैट में मिखाइल को ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया, जिससे वह बेहोश गया. उसी समय इंद्राणी ने शीना को भी वर्ली के अपने घर बुलाया, लेकिन उसने आने से मना किया.
*- इंद्राणी और संजीव शीना को लेने के लिए बांद्रा नेशनल कॉलेज के पास गए. शीना को किराए की कार में ले जाकर ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे पर हत्या कर दी गई. वापस वर्ली पहुंचकर लाश के साथ कार पार्किंग में पार्क कर दी गई. इंद्राणी और संजीव वापस लौटे तो मिखाइल नहीं मिला. होश में आने के बाद खतरे को भांपते हुए वह वहां से भाग निकला.
*- इसके बाद संजीव खन्ना और ड्राइवर श्यामवर राय ने शीना के शव को रायगढ़ के जंगल में ले जाकर दफना दिया.
*- शीना की हत्या के बाद इंद्राणी ने सबको यह बताया कि वह अमेरिका में जाकर शादी कर चुकी है.
*- शीना के लापता होने की कोई सूचना इंद्राणी या परिवार वालों ने पुलिस को नहीं दी.
*- शीना की हत्या के तीन साल बाद तक कुछ नहीं हुआ. एक दिन खार पुलिस स्टेशन में एक अनजान कॉल आई. उसने बताया कि एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने एक बड़ी फैमली की लड़की की हत्या कर जंगल में दफन कर दिया है.
*- इसके बाद पुलिस ने ड्राइवर श्याम राय का फोन सर्विलांस पर लगा. उसके संदिग्ध गतिविधियों को देखते हुए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की


हम क्या नहीं जानते हैं?

*- इंद्राणी मुखर्जी का पूर्व पति संजीव खन्ना शीना की हत्या में क्यों शामिल हुआ?
*- इंद्राणी मुखर्जी का झूठ जानने के बाद भी पीटर मुखर्जी चुप क्यों रहा?
*- मिखाइल को चुप कराने के लिए क्या किया गया था?
*- राहुल और शीना के एक हो जाने के बाद भी इंद्राणी ने उसकी जान क्यों ली? इसकी वजह दोनों को प्यार था या पैसा?

यह भी पढ़ें:
कितनी संपत्ति की मालकिन थी इंद्राणी
सोमवार को कोर्ट में क्या हुआ इंद्राणी के साथ
इंद्राणी और संजीव की कॉल डिटेल से क्या हुआ खुलासा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें