scorecardresearch
 

Sheena Bora Case: हाई प्रोफाइल जिंदगी से जेल की सलाखों तक... इंद्राणी मुखर्जी की कहानी ने जब चौंका दिया था

Indrani Mukerjea Sheena Bora Case: 2012 में शीना बोरा की हत्या हो गई थी, लेकिन उनकी हत्या का खुलासा 2015 में हुआ था. शीना बोरा इंद्राणी मुखर्जी की बेटी थी. इंद्राणी शीना को अपनी बहन बताती थी.

X
शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी मुख्य आरोपी हैं. (फाइल फोटो) शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी मुख्य आरोपी हैं. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2012 में हुई थी शीना बोरा की हत्या
  • 2015 में हत्याकांड का खुलासा हुआ
  • हत्याकांड में इंद्राणी मुख्य आरोपी हैं

Indrani Mukerjea Sheena Bora Case: सुप्रीम कोर्ट से इंद्राणी मुखर्जी को जमानत मिल गई है. वो 6 साल से जेल में बंद थीं. इंद्राणी मुखर्जी पर अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या करने का आरोप है. शीना हत्याकांड के आरोप में इंद्राणी 2015 से मुंबई की बायकुला जेल में बंद हैं. 

शीना बोरा हत्याकांड देश के सबसे चर्चित मर्डर केस में से एक है. ये एक ऐसा हत्याकांड था, जिसमें जानी-मानी हस्ती इंद्राणी मुखर्जी और उनके पति रहे पीटर मुखर्जी का नाम सामने आया था. इस हत्याकांड में रिश्तों का वो पेंच था, जिसमें फरेब, धोखा, झूठ से पैदा हुआ नाजायज रिश्ता और उस रिश्ते को छिपाने के लिए हुआ एक कत्ल था. 

इस हत्याकांड में रिश्तों को लेकर ऐसे-ऐसे खुलासे हुए थे, जिसने सबको हैरान कर दिया था. मुंबई की हाई सोसायटी में हुआ ये हॉरर किलिंग का पहला मामला माना जाता है. ये एक ऐसा मामला था, जिसमें एक मां को अपनी बेटी का कत्ल सिर्फ इसलिए करना पड़ा, क्योंकि उसकी बेटी जिस लड़की से प्यार कर बैठी थी, वो रिश्ते में उसका सौतेला भाई था. 

पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी. (फाइल फोटो)

ये भी पढ़ें-- Explainer: उलझे रिश्तों का ताना-बाना है शीना बोरा हत्याकांड, इंद्राणी मुखर्जी को ऐसे मिली जमानत

कौन हैं इंद्राणी मुखर्जी?

शीना बोरा हत्याकांड का खुलासा होने से पहले तक इंद्राणी मुखर्जी देश की जानी-मानी मीडिया हस्ती थी. करोड़ों रुपयों की मालकिन थी और देश में प्राइवेट टीवी चैनलों को कामयाब बनाने वाले धुरंधरों में से एक पीटर मुखर्जी की पत्नी थीं. पीटर मुखर्जी वही शख्स थे, जिनकी अगुवाई में स्टार इंडिया देश में स्टार की तरह चमक उठा. इंद्राणी पीटर की दूसरी पत्नी थी, जबकि इंद्राणी की ये तीसरी शादी थी.

इंद्राणी मुखर्जी का जन्म 22 नवंबर 1972 को असम के गुवाहाटी में हुआ था. उन्होंने 1996 में कोलकाता में एक रिक्रूटमेंट कंपनी शुरू की. इसका नाम उन्होंने INX सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड रखा. 2001 में इंद्राणी कोलकाता से मुंबई आ गईं. उनकी कंपनी स्टार इंडिया के लिए रिक्रूटमेंट का काम भी देखती थी. इसी बीच उनकी मुलाकात पीटर मुखर्जी से हुई और 2002 में दोनों ने शादी कर ली.

दिसंबर 2006 में पीटर और इंद्राणी मुखर्जी INX ग्रुप के प्रमोटर बन गए. इस ग्रुप में INX सर्विसेस, INX एक्जीक्यूटिव सर्च और INX मीडिया और INX न्यूज जैसी मीडिया कंपनियां थीं. इंद्राणी मुखर्जी INX ग्रुप की चेयरपर्सन बनीं. पीटर और इंद्राणी के पास INX मीडिया में 50% हिस्सेदारी थी.

2008 में जब दुनिया भर में आर्थिक मंदी आई तो इससे INX मीडिया की हालत भी खराब हो गई. उसके पास कर्मचारियों को देने के लिए पैसे नहीं बचे. बाद में पीटर और इंद्राणी ने कंपनी बेच दी. मई 2011 में पीटर और इंद्राणी ने कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के पद से भी इस्तीफा दे दिया. 

2015 में शीना बोरा हत्याकांड का खुलासा होने के बाद इंद्राणी और पीटर को जेल हो गई. ट्रायल के दौरान ही अक्टूबर 2019 में इंद्राणी और पीटर का तलाक हो गया. पीटर को 2020 में इस मामले में जमानत मिल गई थी. 

शीना बोरा. (फाइल फोटो)

कैसे खुला शीना बोरा के कत्ल का राज?

2 मई 2012 को मुंबई से करीब 103 किलोमीटर दूर रायगढ़ के जंगल में एक महिला की अधजली लाश के कुछ हिस्से मिलते हैं. काफी खोजबीन की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. आखिरकार पुलिस ने उस अधजली लाश के हिस्सों का अंतिम संस्कार कर दिया. 

तीन साल बाद 21 अगस्त 2015 को मुंबई पुलिस ने श्याम मनोहर राय नाम के शख्स को गिरफ्तार किया. उसे अवैध रूप से बंदूक रखने के इल्जाम में गिरफ्तार किया गया था. इसी पूछताछ में राय खुलासा करता है कि 2012 में वो एक मर्डर में शामिल था. राय बताता है कि मर्डर करने के बाद लाश को रायगढ़ के जंगल में जला दिया और वहीं दफना दिया. 

राय के खुलासे के बाद जब मुंबई पुलिस ने तफ्तीश शुरू की, तो पता चला कि रायगढ़ के जंगल में मई 2012 में सच में एक महिला की अधजली लाश के हिस्से मिले थे. राय की बताई जगह पर जब खुदाई की गई, तो वहां से लाश के और कुछ हिस्से बरामद हुए. राय ने बताया कि वो कुछ समय पहले तक इंद्राणी मुखर्जी का ड्राइवर था. 

राय ने मुंबई पुलिस को बताया था कि 2012 में इंद्राणी मुखर्जी ने शीना बोरा की गला दबाकर हत्या कर दी थी. इंद्राणी शीना को अपनी बहन बताती थी. आगे जांच में पता चला कि शीना बोरा इंद्राणी की पहली बेटी थी, जो अपनी मां को मुंबई में घर दिलाने के लिए ब्लैकमेल कर रही थी. 

जांच में ये भी सामने आया था कि इंद्राणी ने अपनी बेटी शीना और बेटे मिखाइल को छोड़ दिया था. शीना को अपनी मां के बारे में तब पता चला जब उनकी तस्वीर पीटर मुखर्जी के साथ एक मैग्जीन में छपी.

ये भी पढ़ें-- क्या है संविधान का अनुच्छेद 142? ऐसे मिली इंद्राणी मुखर्जी और आजम खान को जमानत

2015 में इंद्राणी मुखर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया था. (फाइल फोटो)

पीटर के बेटे को प्यार करती थीं शीना 

मां का पता चलने के बाद शीना बोरा मुंबई आ गईं. इंद्राणी ने शीना को अपनी बहन बताया. यहां तक कि अपने पति पीटर को भी यही बात बताई. 

लेकिन 2012 में शीना बोरा गायब हो गईं. इंद्राणी ने कहा कि वो अमेरिका चली गई है. बाद में राहुल मुखर्जी ने शीना के बारे में जानने की कोशिश की. राहुल पीटर मुखर्जी की पहली पत्नी के बेटे थे. राहुल और शीना एक-दूसरे से प्यार करते थे. 

2015 में जब मामला सामने आया तो जांच में पता चला कि इंद्राणी ने मुंबई के बांद्रा में शीना की गला दबाकर हत्या कर दी और उसके शव को रायगढ़ के जंगल में दफना दिया. इंद्राणी की गिरफ्तारी के बाद उनके पूर्व पति संजीव खन्ना को भी बेटी की हत्या में मदद करने और सबूत मिटाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. 

शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी मुख्य आरोपी हैं. ये मामला 6 साल से भी लंबे समय से चल रहा है. अब तक इस मामले में किसी पर दोष साबित नहीं हुआ है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें