scorecardresearch
 

अंतिम बार चोरी करने के दौरान हुआ गिरफ्तार, बनना चाहता था राजनेता

पुलिस का कहना है कि राठौड़ अपने दोस्त के साथ मिलकर मई 2018 से लेकर अब तक पुणे में चेन स्नैचिंग के 46 मामलों को अंजाम दे चुका है. दोनों चोरों के पास से पुलिस ने 31 लाख रुपये के गहने और कैश बरामद किए हैं.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

पुणे पुलिस ने एक ऐसे चोर को गिरफ्तार किया है, जो अंतिम बार चोरी करने निकला था, लेकिन वह पुलिस की पकड़ में आ गया. हालांकि गिरफ्तार राजू खेमू राठौड़ अपने एक और साथी शंकर राव के साथ मिलकर चेन स्नैचिंग और पर्स मारने का काम करता था, लेकिन वह इस काम को छोड़कर सम्मानजनक जीवन के रास्ते पर चलना चाहता था और इसके लिए वह लगातार प्रयास भी कर रहा था.

पुलिस के मुताबिक राठौड़ अपने दोस्त के मिलकर मई 2018 से लेकर अब तक पुणे में चेन स्नैचिंग के 46 मामलों को अंजाम दे चुका है. दोनों चोरों के पास से पुलिस ने 31 लाख रुपये के गहने और कैश बरामद किए हैं.

पुलिस के मुताबिक पूछताछ के दौरान कई चौंकाने वाली बातें सामने आईं. 34 साल का राजू खेमू राठौड़ मराठवाड़ा के लातूर जिले का रहने वाला है. लातूर में भी वह चेन छिनैती का काम कर चुका है. 2004 से 2009 के बीच उसने चोरी के काम के जरिये इतनी रकम इकट्ठी कर ली कि उससे उसने एक शानदार कोठी खड़ी कर ली. खेमू राठौड़ जिला परिषद् का चुनाव लड़ना चाहता था और उसने नामांकन भी दाखिल किया, लेकिन किसी राजनैतिक पार्टी के कहने पर उसने अपना नाम वापस ले लिया था.

हाल ही में राजू खेमू राठौड़ ने पुणे में रेस्तरां भी शुरू किया और लोग भी इसे पसंद कर रहे हैं. दिन में अच्छी खासी कमाई भी होने लगी थी. राजू खेमू राठौड़ ने बताया कि वह चोरी की आदत छोड़कर इज्जत वाली जिन्दगी बसर करना चाहता है और आखिरी चोरी करने के इरादे से बाहर निकला था, लेकिन पुलिस की गिरफ्त में आ गया. बता दें कि यह आरोपी सिर्फ कक्षा दो तक पढ़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें