scorecardresearch
 

Inside Story: सत्ता के गलियारों में हनक, बड़े नेताओं से संबंध.. ऐसा था MP के मिर्ची बाबा का जलवा

इस नए ढोंगी का नाम है बाबा वैराग्यनंद गिरि उर्फ मिर्ची बाबा. जैसा नाम वैसा काम. वैराग्य का तो पता नहीं, लेकिन मिर्ची जलाने में माहिर. अब किसी के भी मन की मुराद पूरी करनी हो, दुश्मन के बने-बनाए काम का कबाड़ा करना हो तो अपने साथ टनों मिर्ची लिए बाबा हर पल तैयार हैं.

X
मध्य प्रदेश के तमाम बड़े नेताओं के साथ ढोंगी मिर्ची बाबा की तस्वीरें देखी जा सकती हैं मध्य प्रदेश के तमाम बड़े नेताओं के साथ ढोंगी मिर्ची बाबा की तस्वीरें देखी जा सकती हैं

हमारे देश में एक से एक बढ़कर ढोंगी बाबा भरे पड़े हैं. कुछ जेल में हैं तो कुछ जेल के बाहर. जो बाहर हैं, उनमें से भी कई ढोंगी अपनी काली करतूतों के चलते बारी-बारी से जेल जा रहे हैं. ऐसे ढोंगी बाबाओं की जमात में एक नया और बिल्कुल ताजा नाम और जुड़ गया है, जिसे लोग मिर्ची बाबा के नाम से जानते हैं. ये बाबा तो और कमाल का है. अपने नाम की तरह ही ये बाबा महिलाओं की आंखों में मिर्ची झोंक कर उनकी आबरू लूट लेता था.

मिर्ची फूंकने में माहिर है ये ढोंगी बाबा
इस नए ढ़ोंगी का नाम है बाबा वैराग्यनंद गिरि उर्फ मिर्ची बाबा. जैसा नाम वैसा काम. वैराग्य का तो पता नहीं, लेकिन मिर्ची जलाने में माहिर. अब किसी के भी मन की मुराद पूरी करनी हो, दुश्मन के बने-बनाए काम का कबाड़ा करना हो, या किसी को सड़क से उठा कर सीधे सत्ता की किसी ऊंची कुर्सी पर बिठा देना हो, अपने साथ टनों मिर्ची लिए बाबा हर पल तैयार हैं. जजमान का इशारा हुआ नहीं कि बाबा झट से मिर्ची फूंक कर हवन-पूजा-पाठ का ऐसा ढोंग रचाते हैं कि अदृश्य शक्तियों की तो छोड़िए भक्तों की ही छींकते खांसते जान निकल जाती है.

ढोंग करने में एक्सपर्ट है मिर्ची बाबा
बस यूं समझिए कि पूरे सूबे में घूम-घूम कर बाबा संतई का ऐसा ड्रामा करते हैं, कि देखनेवाले बस देखते ही रह जाएं. कभी एक अदद लंगोट पहन कर हाथ में फरसा लेकर सीएम हाउस में धरना देने का नाटक, कभी बड़े-बड़े रसूखदार और सियासी लोगों से अपनी नजदीकियों का दिखावा, तो कभी गौ रक्षा और देशभक्ति के नाम पर बड़े-बड़े बोल-वचन. महज एक लंगोट पहने बेसाख्ता इधर-उधर डोलनेवाले मिर्ची बाबा जो ना करें, वो कम है. लेकिन अब बाबा के बुरे कर्म उनके इन तमाम नाटक नौटंकियों पर भारी पड गए हैं. बाबा रेप के संगीन आरोप में ऐसे फंसे हैं आजादी पर ग्रहण लग गया है, इज्जत की मिट्टी पलीद हो रही है, सो अलग है.

रेप के इल्ज़ाम में गिरफ्तारी 
एक महिला से रेप करने के इल्ज़ाम में बाबा को भोपाल पुलिस ने गिरफ्तार कर सीधे बड़ा घर का दरवाजा दिखा दिया है. लेकिन जिस बाबा के सिर पर सत्ता से नजदीकियों की हनक सिर चढ़ कर बोलती हो, जो रेप भी कर रहा हो और रेप करनेवाली महिला को ये कह कर धमका भी रहा हो कि जाओ जिससे करनी हो शिकायत कर लो, कोई मेरा कुछ नहीं बिगाड सकता, वो बाबा भला इतनी आसानी से कहां काबू आ सकता है? सो, इसीलिए जब बाबा दबोचे गए, तो बाबा ने भोपाल क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही नई नौटंकी छेड़ दी. आप भी देखिए बाबा की नारेबाजी, इनक्लाबी और संघर्ष की वो महान तस्वीरें, जब बाबा धरे गए.. गोया, बाबा रेप में नहीं, मानों आजादी की लडाई में जेल जा रहे हों.

निसंतान है 28 साल की पीड़िता
बाबा का मायाजाल और बाबा का प्रपंच कुछ ऐसा है कि लिखते-लिखते कलम की स्याही सूख जाए, बाबा का गुनगाण पूरा ना हो. सो इसीलिए जान लेते हैं कि  मिर्ची बाबा पर नया इल्ज़ाम क्या है, जिसने उनके सितारे मानों एक ही झटके में गर्दिश में ला दिए हैं. मामला ग्वालियर का है. रायसेन की रहेवाली 28 साल की एक महिला की शादी को चार साल हो गए थे, लेकिन घर में अब तक किलकारी नहीं गूंजी थी. वो कई जगह झाड-फूंक करवा चुकी थी, कई लोगों से राय ले चुकी थी. लेकिन रास्ता नहीं खुल रहा था, तभी पड़ोस की महिलाओं ने उसे बाबा वैराग्यनंद उर्फ मिर्ची बाबा के बारे में बताया. 

बाबा से फोन पर की थी बात
पड़ोसी महिलाओं ने उस महिला को बताया कि बाबा के पास ऐसी चमत्कारिक शक्ति है कि बाबा के दवा देते ही गोद भर जाती है. फिर महिला ने बाबा की कई तस्वीरें और पोस्टर भी दीवारों पर देखे, जहां बाबा का नंबर लिखा था. और फिर ऐसे ही एक नंबर के ज़रिए वो बाबा के संपर्क में आई, फिर तो इसके बाद जो कुछ हुआ. वो बहुत बड़ा धोखा था. महिला ने अपनी शिकायत में सबकुछ लिखा है.

 

पीड़ित महिला ने तहरीर में लिखी आपबीती
इसी साल जुलाई में इस नंबर पर फोन किया. गोपाल नाम के व्यक्ति से बात हुई. उसने खुद को बाबा का चेला बताया. उसने बताया कि बैनर में जो दूसरा नंबर लिखा है, वो बाबा का है. इस पर मैंने दूसरे नंबर पर कॉल किया. बाबा से बात हुई. बाबा को बताया कि शादी के 4 साल बाद भी संतान नहीं हुई है. क्या आप कुछ कर सकते हैं? बाबा बोले कि हम इसका इलाज करते हैं. इसके लिए मेरे आश्रम में आना पड़ेगा. मैं खुश हो गई. मैंने अपने पति को बाबा की सारी बातें बताई. बाबा ने मेरे पति से भी बात की. फिर मुझे बाबा पर विश्वास हो गया. इसके बाद बाबा ने मुझसे कई बार बात की. मैंने बाबा को फोन कर बोला कि दवाई लेने आ रही हूं. बाबा ने मुझे भोपाल में मिनाल रेसिडेंसी आने के लिए बोला.

किराए के मकान में पाखंड की दुकान
असल में भोपाल के मिनाल रेसीडेंसी इलाके में बाबा ने एक डुप्लेक्स किराये पर ले रखा था और यहीं से अपनी पाखंड की दुकान चलाया करता था और इस भोली-भाली महिला को ये पता नहीं था कि इस आश्रम में अपने कदम रखना उसकी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती साबित होगी. वो बाबा के बुलाने पर उससे मिलने चली गई.

तहरीर में दर्ज है पूरी घटना
महिला ने तहरीर में लिखा कि मैं अकेली बाबा के मिनाल रेसिडेंसी पहुंच गई. वहां मुझे बाबा का चेला गोपाल लेने आया. फिर मैं बाबा के बंगले पर गई. बंगला दो मंजिला है. वहां बाबा मिले. मुझे बड़े प्रेम से बैठाया. घर में एक बाई थी, जिसने मुझे चाय-पानी दिया. बाबा ने मुझसे सारी बात पूछी. मैंने अपनी सारी परेशानियां बताईं. बाबा ने हाथ की नस देखी. बोला कि तुमको संतान हो जाएगी. तुम कल 12 बजे आना. मुझे बाबा ने कुछ साबूदाना जैसी गोलियां दीं. बोला घर पर रख देना और भभूत खा लेना. मैंने बाबा के कहे अनुसार किया. पति को सारी बातें बताईं. इसके बाद 17 जुलाई को साढ़े 12 बजे मैं ऑटो से बाबा के बंगले मिनाल पहुंची. 

कमरे का दरवाजा बाबा ने किया था बंद
वहां मुझे गोपाल, बाबा, बाई तीनों मिले. बाबा ने मुझे सोफे पर बैठाया. उसके बाद बाबा ने मुझे वहीं पर साबूदाने की गोली और भभूति दी. कहा- ऊपर कमरा है, वहां जाकर आराम से बैठो और खा लो. फिर मैं ऊपर कमरे में चली गई. भभूति और गोलियां मैंने खा लीं. थोड़ी देर बाद बाबा कमरे में आए. मुझसे थोड़ी देर तक बात करते रहे. इतने में मुझे चक्कर आने लगे. मैं उठकर जाने लगी. बाबा ने मुझे पकड़कर बिस्तर पर बैठा लिया. कमरे का दरवाजा बंद कर लिया. मेरे पास आकर मुझे अपनी बांहों में भर लिया. गलत हरकत करने लगा. मैंने बाबा को धक्का दिया. मगर मुझे इतने चक्कर आ रहे थे कि मैं चिल्ला नहीं पा रही थी. मिर्ची बाबा ने मेरे साथ बलात्कार किया और मैं बेहोश हो गई.

घटना के बाद महिला को धमकाता रहा ढोंगी बाबा
लेकिन ये तो रही वैराग्य का चोला ओढ़ कर बाबा की सबसे गिरी हुई करतूत की पहली किश्त. शिकायत के मुताबिक महिला के साथ बलात्कार करने के बाद इस मिर्ची बाबा ने उसे जिस तरह से बातें की और जैसे उसे डराने धमकाने की कोशिश की, उसने उसे झकझोर कर रख दिया था.

बाबा के खिलाफ कार्रवाई की मांग
पीड़िता ने बताया कि मैंने बाबा से बोला कि तुमने मेरे साथ गलत काम किया है. मैं तुम्हें नहीं छोड़ूंगी. बाबा बोला कि ऐसे ही बच्चे पैदा होते हैं. तुझे गोल मटोल लड़का पैदा होगा. मैं बाबा से बोली- मुझे ऐसा बच्चा नहीं चाहिए. बाबा बोला- जा बता दे, जिस-जिस को बताना है. मुझे नागा बाबा का दर्जा मिला है, तू मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती. अगर तूने मेरे खिलाफ कुछ किया तो तुझे और तेरे पति को मरवा दूंगा. मैंने कुछ दिन बाद अपने गुरु भाई को पूरी घटना बताई, तो मेरे पति ने सुन लिया. इसके बाद पति ने मुझे घर से निकाल दिया. मैं आठ-दस दिन से अपने गुरु भाई के यहां रह रही थी. मिर्ची बाबा ने कल मुझे फोन कर बोला कि तू मेरे खिलाफ रिपोर्ट कराने गई है, ऐसा मुझे पता लगा है. अगर तूने मेरे खिलाफ कहीं रिपोर्ट की तो तुझे जान से मरवा दूंगा. इसलिए हिम्मत कर के आज रिपोर्ट दर्ज कराने आई हूं. कार्रवाई की जाए.

विशेष कमरे में महिलाओं को बुलाता था मिर्ची बाबा
बहरहाल, अपने इस पाप के बाद मिर्ची बाबा को उनके किए की सजा मिलने लगी है. महिला की शिकायत पर भोपाल में बाबा के खिलाफ थाने में रेप जैसे संगीन गुनाह की धाराओं के तहत केस दर्ज होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. मिनाल रेंसीडेंसी पर बाबा के ठिकाने पर भी पुलिस की जांच चल रही है. सूत्रों की मानें बाबा ने यहां किराये पर लिए गए डुप्लेक्स के ग्राउंड फ्लोर पर दुनियावालों से मिलने-जुलने का इंतज़ाम कर रखा था, लेकिन जब किसी के साथ खास सेटिंग करनी होती या फिर किसी महिला की आबरू पर हाथ डालना होता, तो बाबा उसे ऊपर की मंजिल पर बने अपने कमरे में ले जाता था, जहां कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं है. वहीं झाड़ फूंक के बहाने वो महिलाओं के साथ ज्यादती करता था. फिलहाल बाबा की गिरफ्तारी के बाद बाबा के साथ साये की तरह रहनेवाला उसका एक चेला और महिला भी इस तथाकथित आश्रम से गायब है. 

सेंट्रल जेल की सामान्य बैरक में बंद है ढोंगी बाबा
पुलिस ने मिर्ची बाबा का मोबाइल फोन ज़ब्त कर लिया है और उसे उम्मीद है कि इससे बाबा के दूसरे धत-करमों का भी लेखा-जोखा मिल सकेगा. पुलिस के उसके डुप्लेक्स में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगालने की तैयारी में है. बाबा से कब-कब कौन-कौन मिलने आता था, वो क्या करता था. सारी जनमकुंडली अब खंगाली जा रही है. फिलहाल बाबा को सेंट्रल जेल के सामान्य बैरक में रखा गया है. और खाने पीने में भी वही सारी चीजें दी जा रही हैं, जो आम कैदियों को दी जाती हैं. जेल जाने के बाद पहले दिन जब उसके पास खाने की थाली रखी गई, तो वो देर तक बिना कुछ खाए थाली को देखता रहा. लेकिन फिर भूख के आगे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया और बाबा ने छक कर खाना खाया. 

खुद को नागा साधु कहता है ढोंगी
रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने बाबा को ग्वालियर से उठा लिया था. लेकिन उसे भोपाल में गिरफ्तार किया गया. मंगलवार को कोर्ट ने उसे 22 अगस्त तक ज्यूडिशियल कस्टडी में यानी जेल भेज दिया. मिर्ची बाबा खुद को नागा साधु कहता है. वो खुद को हरिद्वार के पंचायती निरंजनी अखाड़ा का महामंडलेश्वर भी बताता है. पीड़िता ने शिकायत में पुलिस को बताया था कि उसकी शादी को चार साल के बाद भी बच्चा नहीं होने पर वो बाबा के संपर्क में आई थी, लेकिन बाबा ने उसे नशे की गोलियां खिला कर उसके साथ रेप किया. 

रसूखदार लोगों से रिश्ते रखता था मिर्ची बाबा
वैसे तो साधु-संतों-वैरागियों के बारे में ये कहा जाता है कि उनका अपना कोई परिवार नहीं होता, पूरी दुनिया ही उनका परिवार होती है... लेकिन इन वैराग्यनंद गिरि उर्फ मिर्ची बाबा की इन तस्वीरों को देखने और उनकी सबसे नई करतूत के सामने आने के बाद तो यही कहा जा सकता है कि बाबा ने वैराग्य के बहाने रसूखदार लोगों से रिश्तों का जो जाल-बट्टा फैलाया था, उसका गुरूर ही आखिरकार बाबा को ले डूबा. तभी तो बलात्कार की वारदात के बाद जब पीड़ित महिला ने बाबा को कानून के पास जाने की धमकी दी, तो बाबा ने उल्टा पलट कर जवाब दिया कि जा बता दे, जिस-जिस को बताना है. मुझे नागा बाबा का दर्जा मिला है, तू मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकती. अगर तूने मेरे खिलाफ कुछ किया तो तुझे और तेरे पति को मरवा दूंगा.

सत्ता के गलियारों में बाबा की हनक
अब जिस बाबा के सामने कांगेस लेकर बीजेपी तक के बडे बडे नेता हाथ जोड कर खडे रहते हों, जिस बाबा से पूछ कर नेता अपने सियासी फैसले करते हों, जिन बाबा के यज्ञ और हवन से अपने भाग बदलने की उम्मीद लगाए रहते हों, सत्ता और पावर के नशे में उन बाबा का बहक जाना कोई अजीब बात नहीं है. लेकिन हर बहकने की कुछ कीमत होती है और इस बार तो बाबा ऐसे बहके हैं कि कीमत में सलाखे नसीब हुई हैं.

बड़े नेताओं के साथ तस्वीरें
बाबा की तस्वीरें देखी जाएं तो कमलनाथ, नरोत्तम मिश्रा, दिग्विजय सिंह, पीसी शर्मा, ज्योतिरादित्य सिंधिया, योगी आदित्यनाथ, राजनाथ सिंह.. किसके साथ बाबा की तस्वीरें नहीं है. ये बाबा किसको नहीं जानता. ज़ाहिर है अब इन तस्वीरों के सहारे बाबा जगह-जगह अपनी गोलियां बिछाते होंगे और गोटी लाल भी करते होंगे. लेकिन अब जब बाबा की लुटिया डूबने लगी है, तो कोई कनेक्शन या रसूख काम नहीं आ रहा है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें