scorecardresearch
 

अफगानिस्तान में बैठे अपने आकाओं के संपर्क में था दिल्ली में गिरफ्तार ISIS आतंकी

शुरुआती जानकारी के मुताबिक संदिग्ध ने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह राम मंदिर निर्माण को लेकर बम धमाका करना चाहता था. वह अफगानिस्तान में अपने कुछ आकाओं के संपर्क में था.

X
आरोपी अबू से लगातार पूछताछ की जा रही है आरोपी अबू से लगातार पूछताछ की जा रही है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम
  • मुठभेड़ में पकड़ा गया संदिग्ध आतंकी
  • पूछताछ में किए बड़े खुलासे

दिल्ली में एक एनकाउंटर के बाद पकड़े गए संदिग्ध आतंकी अबू युसूफ ने पूछताछ के दौरान चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. उसने पुलिस को बताया कि वह दिल्ली और यूपी में धमाके करने की साजिश रच रहे थे. वह अफगानिस्तान में मौजूद अपने आकाओं के संपर्क में था. उसे वहीं से दिशा-निर्देश दिए जा रहे थे.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक संदिग्ध ने पूछताछ में खुलासा किया है कि वह राम मंदिर निर्माण को लेकर बम धमाका करना चाहता था. वह अफगानिस्तान में अपने कुछ आकाओं के संपर्क में था. उसके कब्जे से बरामद प्रेशर कुकर में मौजूद विस्फोटक कौन सा था और उसमें कौन से केमिकल इस्तेमाल किया गया था, इस बात की जांच एनएसजी की टीम कर रही है.

दरअसल, खुफिया एजेंसियों ने पिछले दिनों दो अहम अलर्ट जारी किए थे. जिनमें से एक अलर्ट में कहा गया था कि राम मंदिर निर्माण को लेकर आतंकवादी बड़ी आतंकी घटना कर सकते हैं. उनके निशाने पर वीआईपी और राजधानी दिल्ली है.

Must Read: बड़ी साजिश नाकाम- बलरामपुर का ISIS आतंकी गिरफ्तार, 15 किलो IED बरामद

आपको बताते चलें कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने धौलाकुआं और करोल बाग के बीच रिज रोड पर बीती रात एक मुठभेड़ के बाद आर्मी पब्लिक स्कूल के पास से एक संदिग्ध आतंकी को पकड़ा था. उसके पास से दो प्रेशल कुकर में 15 किलो आईईडी बरामद हुआ था. आईईडी बरामद होने की खबर के बाद हड़कंप मच गया. स्पेशल सेल और बम डिस्पोजल स्क्वॉयड आईईडी को लेकर बुद्धा जयंती पार्क पहुंचे और उसे डिफ्यूज किया.

इस काम के लिए तेज तर्रार एनएसजी कमांडो भी बुलाए गए. जो अब मामले की जांच में भी शामिल है. पकड़े गए संदिग्ध आतंकी की पहचान अबू यूसुफ के तौर पर हुई थी. जिसका ताल्लुक आईएसआईएल से बताया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक, अबू यूसुफ यूपी के बलरामपुर का रहने वाला है. उसके निशाने पर कई बड़ी शख्सियत थी. उसने राजधानी के अलग-अलग इलाकों में रेकी भी की थी.

अब पूछताछ में उससे यह जानने की कोशिश की जा रही है कि राजधानी के किन-किन इलाकों में उसने रेकी की. कौन सा बड़ा चेहरा इस आतंकी के निशाने पर था. कौन आईएसआईएस के दहशतगर्द की मदद कर रहा था. गिरफ्तारी के बाद से ही संदिग्ध आतंकी से लगातार पूछताछ की जा रही है. बताया जा रहा है कि आईसआईएस ने लोन वुल्फ अटैक की साजिश रची थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें