scorecardresearch
 
बड़े अपराध

UP: घर में चल रही थी तिलक और शादी की तैयारियां, पेट्रोल छिड़ककर अज्ञात लोगों ने जलाया जिंदा

up crime.
  • 1/6

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले से सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां एक 22 वर्षीय युवक राकेश चौरसिया को कुछ अज्ञात लोगों ने जिंदा जला दिया. आनन-फानन में युवक को बीआरडी मेडिकल कॉलेज  में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. पुलिस मुकदमा पंजीकृत कर मामले की जांच में जुटी है. बताया जा रहा है कि युवक का 16 अप्रैल को तिलक था और 21 को शादी थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Gorakhpur news.
  • 2/6

दरअसल, ये मामला गोरखपुर जिले के बड़हलगंज थाना क्षेत्र के मकरंदपुर का है. जहां अप्रैल की रात लगभग 2:00 बजे अज्ञात लोगों ने  राकेश चौरसिया पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी. इसके बाद आनन-फानन में परिजनों ने उसे बड़हलगंज सीएससी पहुंचाया. बड़हलगंज सीएससी से डॉक्टरों ने उसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज भेज दिया. जहां पर  इलाज के दौरान देर शाम लगभग 7:00 बजे राकेश चौरसिया की मौत हो गई.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

UP police.
  • 3/6

मृतक राकेश चौरसिया के पिता मनिक चौरसिया खेती का कारोबार करते हैं. मृतक राकेश के पिता मनिक चौरसिया का कहना है कि रात में सोते वक्त लगभग 2:00 बजे कुछ लोग आए और पेट्रोल डालकर मेरे बेटे को जला दिया और मेरे बेटे की इलाज के दौरान मौत हो गई.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

up police.
  • 4/6

राकेश चौरसिया के पिता का कहना है कि जैसे मेरे बेटे को जलाया गया उसी तरह उस व्यक्ति को भी सजा मिलनी चाहिए. उन्होंने बताया कि जब यह घटना हुई. उसके बाद कुछ लोगों ने खेत में दौड़कर एक युवक को पकड़ा. मौके पर पुलिस भी पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. जब पुलिस ने आरोपी की शिनाख्त करवाई तो मेरे बेटे ने उसे पहचान लिया. इसके बाद पुलिस उसे पकड़कर ले गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Uttar Pradesh.
  • 5/6

मृतक के चाचा सतीश चंद चौरसिया का कहना है कि राकेश चौरसिया मेरा भतीजा है. उसे जिंदा जला दिया गया. राकेश का 16 अप्रैल को तिलक था और 21 अप्रैल को राकेश की शादी थी लेकिन उसे रात को सोते वक्त ही जिंदा जला दिया गया. जिस व्यक्ति ने उसे जिंदा जलाया है उसे सख्त से सख्त सजा होनी चाहिए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

up police.
  • 6/6

एसपी साउथ ऐके सिंह का कहना है कि चाचा के तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है और साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं. साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. वहीं, उन्होंने बताया कि परिजनों का अलग-अलग कथन है, इसलिए मामला कहीं ना कहीं संदिग्ध लग रहा है. पूरे मामले की जांच की जाएगी और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी.(प्रतीकात्मक तस्वीर)