scorecardresearch
 

कोरोना की भारतीय वैक्सीन COVAXIN का कैसे होगा ट्रायल? समझें

कोरोना की भारतीय वैक्सीन COVAXIN का कैसे होगा ट्रायल? समझें

हिन्दुस्तान से दुनिया को बड़ी उम्मीद है. भरोसा है कि देश के वैज्ञानिक जल्द कोरोना को खत्म करने वाला वैक्सीन खोज निकालेंगे. इस मुहिम का सबसे बड़ा केंद्र बना है देश का सबसे बड़ा अस्पताल एम्स. एम्स में सोमवार से कोरोना वैक्सीन के मानव परीक्षण की प्रक्रिया शुरू हो गई. अब गुरुवार या शुक्रवार को कोवैक्सीन की पहली डोज रजिस्ट्रेशन कराने वाले वॉलंटियर्स को दी जाएगी. कोवैक्सीन को भारत बायोटेक ने ICMR और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की मदद से बनाया है. इस वीडियो में समझें भारतीय वैक्सीन COVAXIN का कैसे होगा ट्रायल.

The human trial for the indigenously developed Covid-19 vaccine Covaxin has begun at AIIMS Delhi.The All India Institute Of Medical Sciences (AIIMS) was given the go-ahead by its Ethics Committee and has begun the recruitment process for the trial, Guleria said, which will include a total of 100 healthy volunteers between the ages of 18 and 55. In this video understand how the human trail of Covaxin will take place.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें