scorecardresearch
 

MP: ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 1 लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदेगी सरकार

मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन खरीदने का फैसला लिया है. इसके साथ ही सरकार एक लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदने की भी तैयारी कर रही है.

CM शिवराज सिंह चौहान CM शिवराज सिंह चौहान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 2 हजार मशीन खरीदने का दिया गया आर्डर
  • गंभीर कोरोना मरीजों के इलाज में मिलेगी मदद 
  • 1 लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदने की तैयारी

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है. हालात ये हो गए हैं कि कई मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है. कई हिस्सों से ऑक्सीजन की कमी के चलते लोगों को परेशानी हो रही है, जिसको ध्यान में रखते हुए अब मध्यप्रदेश सरकार ने फैसला किया है कि वो ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन खरीदेगी. 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद इसकी जानकारी देते हुए बताया कि मध्यप्रदेश सरकार ने 2 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन खरीदने का आर्डर दे दिया है. इन मशीनों को आईसीयू वार्ड में रखा जाएगा, जहां गंभीर रूप से पीड़ित कोरोना मरीजों का इलाज होता है. दरअसल, मध्यप्रदेश में बीते कुछ दिनों से रेमडेसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन सिलेंडर और अस्पतालों में बेड की कमी से सरकार की किरकिरी हो रही थी. 

बता दें कि अचानक से कोरोना के मामले बढ़ने से सरकार के सामने भी चुनौती है कि इस कमी को जल्द दूर कैसे किया जाए. एक तरफ तो सरकार इस महीने एक लाख रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीदने जा रही है, तो वहीं ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनों की खरीदी से गंभीर कोरोना पीड़ित मरीजों के इलाज में सहूलियत होगी. ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन हवा से सीधे ऑक्सीजन लेकर उसे फिल्टर करती है और उसके बाद कम्प्रेस करने के बाद नली के जरिए सीधे मरीज को ऑक्सीजन दी जाती है, जिससे उसका सेचुरेशन लेवल नीचे ना जाए. 

वहीं दूसरी तरफ सरकार ने ऑक्सीजन का परिवहन करने वाले टैंकरों को एंबुलेंस घोषित कर दिया है. गृह विभाग ने बकायदा इस संबंध में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया है. सरकार का उद्देश्य है कि ऑक्सीजन टैंकर बिना देरी के अस्पतालों तक पहुंच सकें, जिससे वहां ऑक्सीजन की आपूर्ति प्रभावित ना हो. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें