scorecardresearch
 

कोरोना की जिस वैक्सीन पर सवाल उठा रहा था विपक्ष, PM ने वही लगवाकर दिया बड़ा संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार सुबह दिल्ली के एम्स में कोरोना वैक्सीन लगवाई. पीएम मोदी ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का डोज लगवाया है, जिसको लेकर कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहे थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एम्स में लगवाई वैक्सीन (PIB) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एम्स में लगवाई वैक्सीन (PIB)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम मोदी ने लगवाई कोरोना वैक्सीन
  • एम्स अस्पताल में ली कोवैक्सीन की डोज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाई. देश में 1 मार्च से कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत हो रही है, ऐसे में पीएम मोदी ने सोमवार सुबह-सुबह वैक्सीन लगवाई. वैक्सीन को लेकर देश में कई प्रकार की बयानबाजी सामने आई थी, यहां तक कि विपक्ष की ओर से भी पीएम मोदी को वैक्सीन लगवाने की चुनौती दी गई थी.

सबसे खास बात ये है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जो वैक्सीन लगवाई, वो भारत बायोटेक की कोवैक्सीन है. दिल्ली के एम्स में पीएम मोदी ने कोवैक्सीन का डोज लिया. इस वैक्सीन को भारत बायोटेक ने डेवलेप किया है. विपक्ष द्वारा इस वैक्सीन को मंजूरी दिए जाने पर काफी सवाल खड़े किए गए थे, साथ ही वैक्सीन की गंभीरता पर भी निशाना साधा गया था.

इतना ही नहीं, भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट के बीच भी वैक्सीन को लेकर विवाद हुआ था. लेकिन अब पीएम मोदी ने भारत बायोटेक की ही को-वैक्सीन की डोज लेकर सभी प्रश्न चिन्हों पर लगाम लगा दी है. 

भारत बायोटेक की वैक्सीन को लेकर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे, पहले इसके तीसरे फेज के ट्रायल, फिर डाटा और उसके बाद सरकार से इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिलने की प्रक्रिया को निशाने पर लिया गया था.

‘पहले पीएम लगवाएं वैक्सीन’
कांग्रेस की ओर से कई बार बयान दिया गया कि देश में वैक्सीन के प्रति विश्वास जगाने के लिए सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही वैक्सीन लगवानी चाहिए. कांग्रेस नेता अजीत शर्मा ने वैक्सीनेशन के शुरुआत में ही ये बयान दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को सबसे पहले वैक्सीन लगवानी चाहिए.

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी अपनी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिक्र किया था कि दुनिया के कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष वैक्सीन लगवा रहे हैं, क्या भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वैक्सीन को लगवाएंगे.

‘बीजेपी की वैक्सीन पर सवाल’
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तो वैक्सीन पर ही सवाल खड़े कर दिए थे. अखिलेश यादव ने कहा था कि उन्हें भाजपा की वैक्सीन पर भरोसा नहीं है, ऐसे में जब उनकी सरकार आएगी तो वो सभी को मुफ्त में वैक्सीन लगवाएंगे.

सोमवार से शुरू हुआ वैक्सीनेशन 2.0
गौरतलब है कि सोमवार को भारत में वैक्सीनेशन 2.0 का आगाज हुआ है. इसके तहत 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन दी जाएगी, साथ ही 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले (20 गंभीर बीमारी वाले) लोगों को वैक्सीन दी जाएगी. 

बता दें कि देश के करीब 10 हजार सरकारी सेंटर्स पर मुफ्त में वैक्सीन मिल रही है, जबकि प्राइवेट सेंटर्स पर ये वैक्सीन 250 रुपये प्रति डोज के हिसाब से दी जाएगी. 


 

  • क्या पीएम मोदी के वैक्सीन लगवाने से कोरोना वैक्सीनेशन अभियान तेज होगा?

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें