scorecardresearch
 

PM मोदी आज लेंगे जी-20 के 'वर्चुअल' सम्मेलन में हिस्सा, कोरोना से जंग पर होगी चर्चा

कोरोना संक्रमण की वजह से इस बार ये सम्मेलन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हो रहा है. इसलिए इसे जी-20 वर्चुअल समिट नाम दिया गया है. इस बार सऊदी अरब जी-20 सम्मेलन का आयोजन कर रहा है. बुधवार को ही पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि कोविड-19 महामारी का सामना करने में जी-20 एक अहम रोल अदा करने वाला है.

पीएम मोदी जी—20 के सम्मेलन में शिरकत करेंगे (फाइल फोटो: AP) पीएम मोदी जी—20 के सम्मेलन में शिरकत करेंगे (फाइल फोटो: AP)

  • आज शाम को हो रहा जी—20 समिट का आयोजन
  • कोरोना से निपटने पर होगी इस समिट में चर्चा
  • इस बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा होगा सम्मेलन
  • पीएम मोदी भी इस समिट में​ शिरकत करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी गुरुवार को कोरोना वायरस पर आयोजित हो रहे जी-20 के सम्मेलन में शिरकत करेंगे. कोरोना संक्रमण की वजह से इस बार ये सम्मेलन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हो रहा है. इसलिए इसे जी-20 वर्चुअल समिट नाम दिया गया है.

इस बार सऊदी अरब जी-20 सम्मेलन का आयोजन कर रहा है. बुधवार को ही पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि कोविड-19 महामारी का सामना करने में जी-20 एक अहम रोल अदा करने वाला है. ऐसे में माना जा रहा है कि आज शाम होने वाली इस बैठक में कोरोना वायरस की रोकथाम और इसका असर कम करने के उपाय पर पर पर प्रभावी चर्चा होगी.

खुद पीएम मोदी ने कहा है कि वो आज इस मुद्दे पर पर प्रभावी और लाभकारी चर्चा की उम्मीद कर रहे हैं.

क्या होगी राहत पैकेज की घोषणा

न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक, जी-20 बैठक के दौरान कोरोना वायरस के इलाज को लेकर व्यापक चर्चा होने की उम्मीद है. इस दौरान सदस्य देश एक पैकेज की भी घोषणा कर सकते हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

गौरतलब है कि जी-20 शिखर सम्मेलन में 19 आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण देश और यूरोपियन यूनियन शिरकत शामिल होते हैं.

गुरुवार शाम को आयोजन

उम्मीद की जा रही है कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने जा रहे इस सम्मेलन में कोरोना से लड़ने के लिए एक एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक ये वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग गुरुवार शाम को 5.30 बजे से लकर शाम 7 बजे तक हो सकती है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

लगातार बढ़ रहा प्रकोप

चीन के वुहान से शुरू हुए कोरोना ने दुनिया के 190 से ज्यादा देशों को अपनी चपेट में ले चुका है. इसकी वजह से पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था के मंदी की चपेट में चले जाने की आशंका गहरा गई है.

कोरोना की चपेट में आकर दुनिया में कुल 21,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. किसी बीमारी के कारण दुनिया ने पहले कभी ऐसी तबाही नहीं देखी थी. दुनिया के 50 से ज्यादा देशों के 170 करोड़ लोग कोरोना के कारण घरों में कैद रहने को मजबूर हैं

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें