scorecardresearch
 

कंधे पर असम का गमछा, पुडुचेरी-केरल की नर्स ने पीएम मोदी को लगाई वैक्सीन

पीएम मोदी को वैक्सीन की डोज देने वाली नर्स पुडुचेरी और केरल से हैं. इनमें से एक काम नाम पी. निवेदा जो पुडुचेरी की रहने वाली हैं. पीएम मोदी वैक्सीन की खुराक लेने सुबह-सुबह ही दिल्ली के एम्स अस्पताल पहुंचे थे.

X
पीएम मोदी के साथ दाईं तरफ रोसम्मा अनिल और बाएं पी. निवेदा.(फोटो-आजतक)
पीएम मोदी के साथ दाईं तरफ रोसम्मा अनिल और बाएं पी. निवेदा.(फोटो-आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुडुचेरी-केरल की नर्स ने पीएम मोदी को लगाई वैक्सीन
  • कंधे पर असम का गमछा रखे नजर आए पीएम मोदी
  • पीएम ने ली कोवैक्सीन (Covaxin) की पहली डोज

कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के दूसरे चरण की शुरुआत में सोमवार की सुबह दिल्ली के एम्स अस्पताल में पीएम मोदी ने वैक्सीन की पहली डोज ली. इस दौरान पीएम मोदी कंधे पर असम का गमछा रखे नजर आए. यह गमछा असम की महिलाओं की तरफ से आशीर्वाद का प्रतीक है. पीएम मोदी इसे कई मौके पर अपने साथ लिए नजर आए हैं.

पीएम मोदी को वैक्सीन की डोज देने वाली नर्स पुडुचेरी और केरल से हैं. इनमें से एक काम नाम पी. निवेदा जो पुडुचेरी की रहने वाली हैं. वहीं केरल की नर्स का नाम रोसम्मा अनिल है. पीएम मोदी वैक्सीन की खुराक लेने सुबह-सुबह ही दिल्ली के एम्स अस्पताल पहुंचे थे. अस्पताल पहुंचने के लिए पीएम मोदी ने सुबह का समय चुना जिससे की लोगों को यातायात संबंधी दिक्कतों का सामना ना करना पड़े. पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन (Covaxin) की पहली डोज ली है. कोवैक्सीन, स्वदेशी वैक्सीन है, जिसे भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए अनुमति दी गई है.

 

पीएम मोदी ने वैक्सीन की डोज लेने की जानकारी ट्विटर के जरिए दी.  उन्होंने लिखा, ''मैंने एम्स में वैक्सीन की अपनी पहली डोज ले ली है. इतने कम समय में देश के डाक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए वैक्सीन बनाई है. यह सराहनीय है. मैं उन सभी लोगों से अपील करता हूं जो वैक्सीन लेने के लिए योग्य है वो वैक्सीन की डोज जरूर लें. हम साथ मिलकर  भारत को कोरोना मुक्त बनाएंगे.''

आज से शुरू हुआ वैक्सीनेशन का दूसरा चरण

कोरोना वैक्सीनेशन अभियाना का दूसरा चरण एक मार्च यानी आज से शुरू हो गया है. अभियान के पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की डोज दी गई थी. दूसरे चरण में  60 साल से ऊपर के लोगों को वैक्सीन की डोज दी जाएगी. हालांकि 45-60 साल की उम्र वालों को भी वैक्सीन की डोज दी जाएगी लेकिन यह सुविधा सिर्फ उन लोगों के लिए है जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं. प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन के दाम चुकाने होंगे जबकि सरकारी सेंटर्स पर वैक्सीन मुफ्त में मिलेगी. केंद्र सरकार ने निजी अस्पतालों में टीके की कीमत भी तय कर दी है. वैक्सीन के एक डोज के लिए 250 रुपये लिए जाएंगे. जिसमें 150 रुपये टीके और 100 सर्विस चार्ज के तौर पर होंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें