scorecardresearch
 

वैक्सीन की सप्लाई को लेकर फाइजर से सरकार की बातचीत जारी, जल्द आ सकते हैं अच्छे नतीजे

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर फाइजर की वैक्सीन लगने के बाद कुछ होता है तो सरकार कंपनी से सवाल नहीं कर पाएगी. साथ ही देश में भी अगर फाइजर से जुड़ा कोई मामला कोर्ट में पहुंचता है, तो फिर सवाल केंद्र सरकार से ही किए जाएंगे.

X
कोरोना के बीच वैक्सीन का संकट (सांकेतिक फोटो) कोरोना के बीच वैक्सीन का संकट (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत में वैक्सीन की डिमांड काफी ज्यादा है
  • विदेशी कंपनियां सीधे भारत सरकार से कर रहीं डील

कोरोना संकट के बीच वैक्सीन की किल्लत को दूर करने के लिए भारत सरकार की अमेरिकी वैक्सीन निर्माता कंपनी फाइजर से बातचीत चल रही है. वैक्सीन की सप्लाई को लेकर दोनों के बीच बातचीत का दौर जारी है. जल्दी ही वैक्सीन की सप्लाई की स्थिति साफ हो जाएगी. वहीं, कंपनी ने संकेत दिए हैं कि जल्द ही कोई अच्छा नतीजा निकल सकता है.  

बता दें कि बीते दिनों ये जानकारी आई थी कि भारत सरकार और फाइजर कंपनी के बीच एक हस्ताक्षर को लेकर पेच फंसा है. दरअसल, फाइजर ने अमेरिका, यूके समेत कई सरकारों से कानूनी सुरक्षा का भरोसा मांगा है, अब फाइजर यही मांग भारत में कर रही है. इसी मसले पर भारत सरकार और फाइजर के बीच पेच फंसा है. 

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर फाइजर की वैक्सीन लगने के बाद कुछ होता है तो सरकार कंपनी से सवाल नहीं कर पाएगी. साथ ही देश में भी अगर फाइजर से जुड़ा कोई मामला कोर्ट में पहुंचता है, तो फिर सवाल केंद्र सरकार से ही किए जाएंगे.

गौरतलब है कि भारत में वैक्सीन की डिमांड काफी ज्यादा है, लेकिन प्रोडक्शन लिमिटेड ही हो रहा है. ऐसे में कई राज्यों ने सीधे विदेश से वैक्सीन लेने की सोची है, लेकिन विदेशी कंपनियां सीधे भारत सरकार से ही डील कर रही हैं. दिल्ली सरकार भी फाइजर से बात कर चुकी है, लेकिन उन्हें भी केंद्र सरकार का हवाला दिया गया है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें